Type Here to Get Search Results !

Soldiers tied the injured to the bonnet of the jeep and took him around, the video created a stir on social media.

सैनिकों ने घायल को जीप के बोनट से बांधकर घुमाया, वीडियो ने सोशल मीडिया पर मचाया तहलका

आतंकियों को पकड़ने गई इजरायली सेना ने शनिवार को एक उपद्रवी को जीप के आगे बांधकर घुमाया। घटना शनिवार की है, जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। सेना ने रविवार को कहा कि इजराइली सैनिकों ने वेस्ट बैंक के कब्जे वाले शहर जेनिन में छापे के दौरान एक घायल फिलिस्तीनी व्यक्ति को सैन्य वाहन से बांध दिया। आतंकियों के साथ मुठभेड़ में ये संदिग्ध घायल हुआ था। 

On Saturday, the Israeli army, which had gone to arrest the terrorists, tied a miscreant in front of a jeep and paraded him around. The incident took place on Saturday, the video of which is going viral on social media. Israeli soldiers tied a wounded Palestinian man to a military vehicle during a raid in the occupied West Bank city of Jenin, the army said on Sunday. This suspect was injured in an encounter with terrorists.

सेना ने कहा कि वह कुछ वांछित आतंकियों को पकड़ने के लिए वेस्ट बैंक के वादी बुरकिन इलाके में गई जीप पर बांधे गए शख्स की पहचान जेनिन के फिलिस्तीनी निवासी मुजाहिद आजमी के तौर पर हुई है, आलोचना के बाद इजरायली सेना ने माना है कि उसके सैनिकों से गलती हुई है। इजरायल सेना के अधिकारियों ने कहा, ये घटना सेना के मूल्यों के अनुरूप नहीं है इस घटना की जांच कर आगे की कार्रवाई की जाएगी। घायल व्यक्ति को उपचार के लिए फिलिस्तीनी रेड क्रिसेंट में स्थानांतरित कर दिया गया है। जेनिन लंबे समय से फिलिस्तीनी आतंकियों का गढ़ रहा है।

The army said it went to the Wadi Burkin area in the West Bank to capture some wanted terrorists. The man tied to the jeep has been identified as Mujahid Azmi, a Palestinian resident of Jenin. Following criticism, the Israeli army has admitted that its soldiers A mistake has been made. Israeli Army officials said, this incident is not in accordance with the values ​​of the army, this incident will be investigated and further action will be taken.The injured man has been transferred to the Palestinian Red Crescent for treatment. Jenin has long been a stronghold of Palestinian terrorists.

 इजरायली सेना नियमित रूप से शहर और आस-पास के शरणार्थी शिविर में छापेमारी करती है। शनिवार को सेना एक सूचना के बाद संदिग्ध आतंकियों को पकड़ने पहुंची थी, जिस दौरान ये संदिग्ध व्यक्ति घायल हो गया और सेना द्वारा पकड़ लिया गया। जीप के बोनट पर बांधकर उसे मानव ढाल की तरह इस्तेमाल करने के बाद इस घायल व्यक्ति को इलाज के लिए रेड क्रीसेंट को सौंप दिया गया।

Israeli forces regularly raid the city and the nearby refugee camp. On Saturday, the army had come to arrest the suspected terrorists after receiving a tip-off, during which the suspected person was injured and was caught by the army. After tying him to the bonnet of the jeep and using him as a human shield, the injured man was handed over to the Red Crescent for treatment.

अप्रैल 2017 में भारत में भी ऐसा मामला देखने को मिला था। भारतीय सेना कश्मीर में एक स्थानीय युवक को जीप के बोनट पर बांधकर गाड़ी चलाई थी। पत्थरबाजों से बचाने के लिए सेना ने ऐसा किया। 26 साल का फारूक अहमद डार था, जो पेशे से दर्जी था और बडगाम का रहने वाला था। राष्ट्रीय राइफल्स के एक मेजर के ऐसा किया था।

A similar case was seen in India also in April 2017. Indian Army had tied a local youth to the bonnet of a jeep and drove away in Kashmir. The army did this to protect from stone pelters. 26-year-old Farooq Ahmed Dar was a tailor by profession and a resident of Budgam. A Major of the Rashtriya Rifles did this.

Tags

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

(Google Ads) Hollywood Movies