Type Here to Get Search Results !

अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझी,साला ही निकला जीजा का हत्यारा

• बेमेतरा पुलिस की तत्परता से 05 आरोपी पुलिस के गिरफ्त में।

 • परिवारिक विवाद के चलते शिक्षक की हुई थी हत्या। 

 • ग्राम जिया के शासकीय स्कुल में पदस्थ था शिक्षक। 

 • जिया स्कुल से वापस आते बेमेतरा सिमगा मुख्य मार्ग ग्राम बसनी के पास


नामदेव साहू

 बेमेतरा - हाल ही में दिनांक 03 फरवरी 2024 को जरिये मोबाइल एवं कंट्रोल रूम बेमेतरा के माध्यम से सिमगा बेमेतरा मुख्य मार्ग किनारे, ग्राम बसनी में एक व्यक्ति के दुर्घटनाग्रस्त होने के संबंध में सूचना प्राप्त हुआ जिस पर तत्काल थाना पेट्रोलिंग टीम को मौका पहुंचकर घायल व्यक्ति को जरिये 108 एम्बुलेंस के जिला अस्पताल बेमेतरा भिजवाये तथा घायल व्यक्ति का नाम विजय वर्मा होने, जिसके गर्दन पर धारदार वस्तु से कटने जैसा दिखाई देने, घटनास्थल पर मृतक के द्वारा कुछ लिखने का प्रयास किये जाने, मामला सडक दुर्घटना जैसा प्रतीत नहीं होने अपितु संदिग्ध प्रतीत होने संबंधी सूचना प्रदाय किया गया, जिस पर थाना बेमेतरा स्टाफ को तत्काल प्रकरण के संबंध में आवश्यक कार्यवाही हेतु जिला अस्पताल बेमेतरा रवाना कराया तथा हमराह थाना स्टाफ के साथ प्रकरण के घटनास्थल की ओर रवाना हुआ, जो कि जिला अस्पताल में उपस्थित पुलिस टीम के द्वारा घायल व्यक्ति विजय वर्मा की ईलाज के दौरान मृत्यु हो जाने के संबंध में सूचना प्रदाय किया गया, जिस पर स्टाफ को मर्ग पंजीबद्ध कराये जाने, मृतक के परिजनों से संपर्क करने तथा शव पंचनामा आदि कार्यवाही करने।

मृतक की मृत्यु के संबंध में थाना बेमेतरा में अस्पताली मेमो पर से मर्ग कायमी पश्चात, जिला अस्पताल बेमेतरा में परिजनों की उपस्थिति में मर्ग पंचनामा कार्यवाही कराया गया, जो कि मृतक के गर्दन पर आई चोट धारदार हथियार से कटने के फलस्वरूप आना प्रतीत होना बताया गया, पंचनामा साक्षियों के द्वारा भी मृतक के मृत्यु के संबंध में संदेह व्यक्त किया गया। मृतक विजय वर्मा के शव का पीएम जिला अस्पताल बेमेतरा से कराया गया है, पी.एम. कर्ता डांक्टर साहब के द्वारा मृतक का शार्ट पी.एम. रिपोर्ट प्रदाय किया है,जो कि प्रकरण के घटनास्थल निरीक्षण, परिस्थितिजन्य साक्ष्य, कथन गवाहान, शव पंचनामा कार्यवाही, शार्ट पी.एम. रिपोर्ट के आधार पर प्रथम दृष्टया अज्ञात व्यक्तियों के द्वारा धारदार हथियार से मृतक विजय वर्मा की हत्या किया जाना प्रतीत होने से प्रकरण में आरोपियों के विरुद्ध धारा 302, 34 भादवि. का अपराध घटित करना पाये जाने पर प्रार्थी राधेश्याम साहू पिता जोहन साहू उम्र 27 साल वार्ड ब्याय जिला अस्पताल की ओर से थाना बेमेतरा में अपराध सदर धारा 302,34 भादवि कायम कर विवेचना में लिया गया। प्रकरण में विवेचना के दौरान धारा 120 भादवि जोड़ी गई है।

परिवारिक विवाद के चलते मृतक के बहन दमाद ने दी थी हत्या करने सुपाडी।

घटना की सूचना मिलने पर वरिष्ठ अधिकारियों सहित थाना बेमेतरा तत्काल मौके का मुआयना किया । मुआयना करने पर गंभीर रूप से घायल युवक की घटना अनेकानेक संदेहों को जन्म दे रहा था। मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक बेमेतरा भावना गुप्ता (भा.पु.से.) के निर्देशन एवं अति. पुलिस अधीक्षक पंकज पटेल एवं एसडीओपी बेमेतरा मनोज तिर्की के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी बेमेतरा निरीक्षक अजय कुमार सिन्हा व सायबर सेल प्रभारी उप निरीक्षक मयंक मिश्रा, सायबर सेल की टीम एवं थाना/चौकी स्टाफ को अज्ञात हत्यारे की पतासाजी हेतु लगाया गया।

पुलिस के लगातार प्रयास से प्रकरण में विवेचना के दौरान परीस्थितिजन्य साक्ष्य एवं टेकनिकल टीम की मदद से आरोपी ललित वर्मा को हिरासत में लेकर उक्त प्रकरण के संबंध में पूछताछ करने पर पता चला कि मृतक विजय वर्मा की छोटी बहन की शादी ललित वर्मा नाम के युवक से हुआ था, जो कि शादी के बाद ललित वर्मा और उसकी पत्नि के मध्य पारिवारिक वादविवाद चल रहा था इसी कारण वश मृतक की बहन के द्वारा पूर्व में थाना बेमेतरा में अपने पति ललित वर्मा के विरूद्ध शारिरीक मानशिक प्रताडना संबंधी अपराध पंजीबद्ध कराया गया था। जो कि ललित वर्मा अपने पारिवारिक कलह के पीछे मृतक को समझता था तथा मृतक के बीच इसी बात को लेकर लडाई झगडा होता रहता था। घटना के दो दिन पूर्व भी ललित वर्मा एवं मृतक के बीच बहस होना जिसमे ललित वर्मा के द्वारा जान से मारने संबंधी धमकी देने संबंधी तथ्य प्रकाश में आया। जिस पर से आरोपी ललित वर्मा द्वारा व्यथित होकर अपने मितान तुकाराम साहू से संपर्क कर विजय वर्मा की हत्या की योजना बनाया। जिस पर तुकाराम साहू द्वारा विजय वर्मा की हत्या के लिए देवा नामक व्यक्ति से संपर्क किया जिसे आरोपी ललित वर्मा ने विजय वर्मा की हत्या की सुपाडी दिया। घटना के एक दिन पूर्व आरोपी देवा अपने अन्य साथियो क्रमश शोमेश कोसरे तथा गुलशन के साथ बेमेतरा आकर ललित वर्मा से संपर्क कर मृतक के आने जाने के रास्ते के संबंध में तुकाराम के साथ मिलकर रेकी किया। तथा घटना वाले दिन आरोपी देवा के द्वारा अपने अन्य साथियों शोमेश कोसरे तथा गुलशन के साथ मिलकर सुनियोजित ढंग से मृतक की हत्या कारित किये। इसके बाद ललित वर्मा के द्वारा अपने मितान तुकाराम को मृतक विजय वर्मा की हत्या के एवज में ढाइ लाख रूपये दिये। जिसपर तुकाराम द्वारा अपने साथी नागेश्वर के साथ प्रकरण के आरोपियों से संपर्क कर उनको करीबन दो लाख रूपये हत्या करने के एवज में प्रदाय किया गया। वर्तमान समय तक उक्त पांच आरोपी को पकडा गया है प्रकरण में एक आरोपी फरार है जिसकी पता तलाश की जा रही है। प्रकरण में हत्या की सुपाडी की रकम को आरोपियों के द्वारा आपस में बांटवारा कर लिया गया था, जो कि वर्तमान समय तक आरोपियों से करीबन 1 लाख 90 हजार रूपये की बरामदगी किया गया है, इसके अतिरिक्त आरोपियों के द्वारा प्रयुक्त मोबाईल फोन तथा आरोपियों से संबंधित 03 नग मोटर सायकल भी बरामद किया जा चुका है। 

       प्रकरण में इन आरोपीगण थे मौजूद

1. ललित वर्मा पिता कौशल वर्मा उम्र 30 साल साकिन लोले सरा बेमेतरा। 2. तुकाराम साहू पिता दिनानथ साहू उम्र 34 साल साकिन किरवई थाना सिमगा जिला बलौदाबाजार। 3. नागेश्वर रात्रे पिता कवल दास रात्रे उम्र 24 साल साकिन किरवई थाना सिमगा जिला बलौदाबाजार। 4. गुलशन ध्रुव पिता फेकन सिंह ध्रुव उम्र 27 साल साकिन गांधीनगर पंडरी थाना सिविल लाईन रायपुर। 5. सोमेश कोसरे पिता दिनेश कोसरे उम्र 24 साल सरस्वती नगर पंडरी थाना सिविल लाईन रायपुर को पकडा गया है प्रकरण में विधिवत अग्रिम कार्यवाही की जा रही है।

इन पुलिस वालों का रहा विशेष सहयोग

थाना सिटी कोतवाली प्रभारी निरीक्षक अजय कुमार सिन्हा, सायबर सेल प्रभारी उप निरीक्षक मयंक मिश्रा, सउनि संतोष ध्रुर्वे, प्रधान आरक्षक गोपाल ध्रुव, हेमंत साहू, लोकेश सिंह, विनोद पात्रे, आरक्षक रामगोपाल निषाद, राहुल यादव, शिवकुमार सेन,  पंचराम घोरबंधे, इंद्रजीत पांडेय, नुरेश वर्मा एवं अन्य स्टाफ की सराहनीय भुमिका रही।

Tags

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

(Google Ads) Hollywood Movies