Type Here to Get Search Results !

जल जीवन मिशन योजना के कार्य में भ्रष्ट्राचार, बनते ही टूट रहे प्लेटफार्म, ग्रामीणों की शिकायत को अनदेखा करते आ रहे पीएचई के एसडीओ- उप अभियंता, सरपंच ने की कलेक्टर से शिकायत

कविता कश्यप जिला ब्यूरो कोरबा 

कोरबा/पाली:- जिले के पाली ब्लाक अंतर्गत पहाड़ी एवं बीहड़ वनांचल ग्राम पंचायत जेमरा में जल जीवन मिशन के तहत हो रहे कार्यों में घोर अनियमितता बरती जा रही है। ठेकेदार के द्वारा निर्धारित मापदंड के विपरीत काम किया जा रहा है। वहीं जिन अफसरों के जिम्मे इस योजना का काम पूरा कराने की जिम्मेदारी है, वो कार्य स्थलों का निरीक्षण ही नही करने जाते और ठेकेदार की लापरवाही व भ्रष्ट्राचार को रोकने के लिए भी तैयार नही है। नतीजतन केंद्र और राज्य सरकार की नल जल योजना दम तोड़ती दिख रही है।

एक तरफ सरकार करोड़ों रुपए खर्च करके जल जीवन मिशन योजना में हर घर नल- घर घर जल के तहत शहरी से लेकर वनांचल के गांवों तक हर एक परिवार को शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने की दिशा में काम कर रही है। लेकिन इस योजना को मूर्त रूप देने में लगे ठेकेदार अपने मनमाने तरीके से लो क्वॉलिटी का काम कर रहे हैं और जिस जगह भी नल जल योजना का काम चल रहा है। उस जगह पीएचई विभाग के ना एसडीओ और ना ही इंजीनियर उसकी जांच पड़ताल करने के लिए जाते हैं। अफसरों के दौरा नहीं करने से ठेकेदार मनमानी से काम कर रहे हैं। जिसकी वजह से घटिया निर्माण कार्य किया जा रहा है। ऐसे में ठेकेदारों को संबंधित अधिकारियों का संरक्षण प्राप्त होने के आरोप लग रहे हैं। ग्राम पंचायत जेमरा में भी वर्तमान चल रहे जल जीवन मिशन योजना के कार्यों में ठेकेदार द्वारा भारी गड़बड़ी किये जाने की बाते सामने आ रही है। जिसके मुताबित यहां के ग्रामीणों का कहना है कि अधिकारी कर्मचारी काम झांकने तक आते नहीं और ठेकेदार मनमाने ढंग से गुणवत्ताहीन निर्माण कार्य कर रहे हैं। पाइप लाइन गलत ढंग से बिछाने के कारण घर घर पानी पहुँचने में संचय की स्थिति है वहीं जो प्लेटफार्म तैयार किया जा रहा है उसमें भी निम्न स्तर के निर्माण सामग्री का उपयोग किया जा रहा है। जिसके कारण प्लेटफार्म बनने के साथ ही टूटने- फूटने लगे है। ज्यादातर नलों में टोंटी तक नही लगाया गया है और जिनमे लगाया गया है वह भी प्लास्टिक का। ग्रामीणों ने आगे बताया कि निर्माण कार्य करा रहे ठेकेदार को गुणवत्तापरख काम कराने बोलने पर जितना सामान ऊपर से मिला है उतने में काम कराया जा रहा है कहकर धमकाया जाता है। जिसकी शिकायत यहां के पंच कृष्णा सिंह, रामायण सिंह, शत्रुहन सिंह व ग्रामीण संतोष दास, दशरथ सिंह, बाबूलाल राज, थान सिंह, अनिल सिंह, राजेश कुमार, फगनी बाई, उर्मिला बाई, अकाश कुमारी सहित दर्जन भर से अधिक जेमरा वासियों ने लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग, उप खण्ड कटघोरा के एसडीओ एवं उप अभियंता श्रीमती मिश्रा से अनेको बार की गई लेकिन इसके बाद भी उनकी एक नही सुनी जा रही है। परेशान ग्रामीणों की माने तो स्तरहीन काम का विरोध भी किया गया पर ठेकेदार बेखौफ होकर भ्रष्ट्र काम को अंजाम दे रहा है। जिसे लेकर यहां के सरपंच भँवर सिंह उइके ने इसकी लिखित शिकायत कलेक्टर से की है और मौका जांच करा दोषियों पर उचित कार्यवाही व गुणवत्तापूर्ण कार्य की मांग की है। इस विषय पर सरपंच का कहना है कि शासन की नल जल योजना के तहत अनेक पंचायतों में बड़ी- बड़ी टंकिया बनाकर खड़ी तो कर दी गई है किन्तु न तो टंकी में पानी है और ना ही इस ओर कोई ध्यान दे रहा है। ऐसे में आने वाले गर्मी के दिनों में वनांचल में बसने वाली जनता को पानी के लिए प्राकृतिक स्त्रोतों पर निर्भर होना पड़ेगा। नल जल योजना का कार्य सफलतम रूप में होने और जिसका सही तौर पर संचालन से ही हर परिवार को लाभ मिल सकेगा अन्यथा अनदेखी से यह योजना धराशायी हो जाएगा।

Tags

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.