Type Here to Get Search Results !

बड़े साजापाली,बुंदेलाभाटा आश्रित ग्राम तुकड़ा के जंगल में आये हाथियों के झुंड ने मचाया उत्पात, 50 से 60 एकड़ धान की फसलों को किया बर्बाद

नामदेव साहू छत्तीसगढ़ संपादक

विगत एक सप्ताह से अधिक दिन हो गए भोजन की तलाश में  जंगली हाथियों का झुंड जंगल छोड़ संध्या होते ही गांव की ओर रूख करना शुरू कर देते है. बसना ब्लॉक के ग्राम पंचायत बुंदेला भाटा आश्रित ग्राम टुकड़ा जंगल में एक दर्जन से अधिक जंगली हाथियों ने क्षेत्रीय ग्राम बड़े साजापाली,हरदा नवागांव,छातापठार गांवों के खेतों में संध्या होते ही प्रवेश कर उत्पात मचाना शुरू कर दिया है.हाथियों ने 60 से 70 एकड़ किसानों के धान की फसल को बर्बाद कर चुका है ।

किसानों ने हाथी को भगाने और मुआवजे की मांग की

बेदराम कुर्रे,अमृत लाल निर्मलकर,सुखराम,पिलादाउ ओगरे, मोहित राम,गीता प्रसाद लहरे,कर्मात बाई,टिकेश्वर जगत, जयप्रकाश निर्मलकर ग्रामीणों ने बताया कि जंगली हाथी 10-15 की संख्या में मौजूद है हाथी जिस ओर जा रहा है उस ओर पूरे धान की फसल को रौंदकर बर्बाद कर रहा है. ग्रामीणों ने कहा कि अगर जंगली हाथी को वन विभाग द्वारा नहीं भगाया गया, तो हम गरीब किसान बर्बाद हो जायेंगे. धान की फसल तैयार होने की स्थिति में है. किसानों ने कहा कि इस समय जंगली हाथी धान को खाकर एवं रौंदकर बर्बाद कर रहा है, तो हम गरीब किसानों के सामने भुखमरी की स्थिति पैदा हो जायेगी.ग्रामीण किसान वन विभाग से हाथी को भगाने एवं मुआवजे की मांग की है.

गांव में जंगली हाथियों के उत्पात से ग्रामीण दहशत में हैं. ग्रामीणों ने बताया कि बुंदेला भाटा तुकड़ा जंगल के रास्ते से होकर 10 से 15 की संख्या में जंगली हाथियों का झुंड गांव के अगल-बगल जंगलों में डेरा जमाये हुए है. रात होते ही जंगली हाथी जमकर उत्पात मचाते हैं. खेतों में तैयार हो रहे फसलों को नुकसान पहुंचा रहे हैं.बैल,बकरी चराने गये ग्रामीण हाथियों के झुंड को देखकर काफी डरे हुए हैं. ग्रामीणों का कहना है कि हाथियों द्वारा अब तक काफी संपत्ति को नुकसान पहुंचाया जा चुका है. जिसके बावजूद वन विभाग गंभीर नहीं है.ग्रामीणों ने बताया कि जंगली हाथियों का झुंड आसपास के जंगल में होने के कारण मजबूरन लोगों को रतजगा करना पड़ रहा है.. गांव के लोग शाम होते ही घर के बाहर मशाल हाथी से बचने के लिए मसाला जलते हैं।  

Tags

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.