Type Here to Get Search Results !

वाह भई वाह : गांव की गलियों में गंदे पानी के जमावड़े से बीमारी फैलने की संभावना और सड़क किनारे नाली सफाई का काम कागजों में कराकर मनमाने निकाली राशि

कविता कश्यप जिला ब्यूरो कोरबा 

कोरबा/पाली:-पाली विकासखण्ड अंतर्गत ग्राम पंचायत रैनपुर खुर्द सरपंच- सचिव के निष्क्रियता से गांव की गलियों में जगह- जगह पानी के ठहराव से गंदगी का आलम है। जहां बदबू और कीचड़ से लोगों का चलना दुश्वार है और वे खासे परेशान हैं। मच्छरों के तादाद में भी बढ़ोत्तरी हो रही है। ग्रामीण कई बार पंचायत में इस समस्या से निजात दिलाने की मांग कर चुके हैं, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो सकी। ग्रामीणों का कहना है कि गांव के गलियों का कांक्रीटीकरण के समय निर्माण एजेंसी ग्राम पंचायत द्वारा नालियों के निर्माण की ओर ध्यान नही दिया गया। जिसके कारण घरों से निकलने वाला गंदा पानी गलियों में बहते रहता है, वहीं हेंडपम्प व पेयजल व्यवस्था वाले स्थानों पर वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम अथवा सोख्ता गड्ढा का निर्माण नही कराए जाने से भी गलियों में पानी का बहाव रहता है, इसके अलावा बारिश के पानी का भी निकासी नही होने से गलियों की हालत कीचड़ युक्त होकर बद से बदतर हो चुका है। जिसमे चलना मुश्किल हो गया है। गांव के भीतरी स्थानों पर पानी के ठहराव से बड़े पैमाने पर मच्छर पनपने लगे है, जिससे बीमारी फैलने का भी अंदेशा बना हुआ है। ग्रामीणों ने आगे बताया कि इस समस्या के निराकरण हेतु सरपंच- सचिव को अनेको बार बोला गया किन्तु उनके द्वारा इस ओर कोई ध्यान नही दिया जा रहा है। जिसे लेकर ग्रामीणों में नाराजगी है। ऐसे में इस पंचायत की बात करें तो ग्राम विकास के नाम पर भीतरी गलियों का कांक्रीटीकरण तो किया गया, लेकिन नियम के तहत नालियों का निर्माण नही कराया गया और न ही इस ओर कोई सुध ली जा रही है। दूसरी ओर सरपंच- सचिव ने मिलकर मुख्यमार्ग किनारे नाली साफ- सफाई के काम कागजों में कराकर मूलभूत मद से मनमाने राशि निकाली। जिसके अनुसार 16 जून 2020 रिचार्ज बाउचर की तिथि में 9.120, 24 जुलाई 2020 में 6.840, 31 मार्च 2022- 36.000 एवं 13 मार्च 2023 की तिथि में 36.000 की राशि निकाली गई है, जबकि ग्रामीणों के अनुसार मुख्यमार्ग किनारे नाली साफ- सफाई का कार्य आज पर्यन्त कराया ही नही गया है। फिलहाल ग्राम रैनपुर खुर्द के निवासियों ने सरपंच- सचिव के कार्य रवैये के प्रति गहरी नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा है कि जहां आवश्यकता है उस ओर कोई ध्यान नही दिया जा रहा तथा बुनियादी सुविधाओं के नाम पर निजी स्वार्थ सिद्धि की पूर्ति की जा रही है।

Tags

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.