Type Here to Get Search Results !

हर्षोल्लास के साथ मनाया विश्व आदिवासी दिवस

योगेश केसरवानी जिला ब्यूरो सारंगढ़ 

भटगांव = प्रत्येक वर्ष की भांति इस वर्ष भी संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा घोषित विश्व आदिवासी दिवस को बिलाईगढ़ विकास खण्ड के समस्त आदिवासियों ने बड़े हर्षोल्लास के साथ ऐतिहासिक जनसंख्या के साथ मनाया गया जो भटगॉंव के स्वर्णिम इतिहास में दर्ज हो गया है। बताया गया है कि आदिवासियों के जल, जंगल, जमीन एवं उनके सांविधिक अधिकारों की सरक्षण एवं संवर्धन के लिए पूरे विश्व के संगठन मे संज्ञान में लिया गया और 1994 से 9 अगस्त को विश्व मूलनिवासी दिवस के रूप में मनाए जाने की शुरुवात हुई तब से प्रत्येक देशों में विशादिवासी दिवस को एक महा पर्व के रूप में मनाया जाता है इस दिन आदिवासियों के संस्कृति, परम्परा, पारम्परिक वेश भूषा, लोकनृत्य, गीत, एवं पारंपरिक अस्त्रों की झलक के साथ साथ समाज की ताकत एवं एकजुटता देखने को मिली।

कार्यक्रम को प्रारम्भ करने से पहले विशाल रैली के रूप में नगर भ्रमण कराया गया जिसमें सभी युवा वर्ग बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिए तथा रँगा रंग रेला पाटा नृत्य, कर्मा, DJ के साथ रैली में चार चांद लगा रहे थे। इस कार्यक्रम की मुख्य अतीत बिलाईगढ़ रियासत के महाराजा ओंकारेश्वर शरण सिंह जी थे अपने उद्बोधन में राजा साहब आदिवासियों की समस्या एवं विकास पर फोकस करते हुए समाज विकास के लिए अपने विजयनगर में स्थित भूमि में से 5 एकड़ की भूमि शिक्षा या चिकित्सा के क्षेत्र में विकास के लिए समाज को दान देने की घोषणा किया गया पूरा सभा इस पुनीत कार्य के लिए राजा जी को धन्यवाद के साथ जय जयकार से गूंज उठा। कार्यक्रम की अध्यक्षता माननीय खोलबहरा प्रसाद सिदार जी अध्यक्ष अजजा शा से संघ बिलाईगढ़ के द्वारा किया गया मंच संचालन, रुपनाथ ध्रुव जी, युधिष्ठिर राज एवं सहदेव सिदार आदिवासी नेता के द्वारा किया गया।

विशिष्ट अतिथियों में ईश्वर सिंह सिदार जिला पंचायत सदस्य, श्रीमती प्रेमलता नेता पूर्व जनपद अध्यक्ष, अविनाश सिदार, अलेख सिदार, रामनाथ सिदार, गिविंद ध्रुव, चंद्रकांत ध्रुव, धनंजय नेताम, कमलेश सिदार, देवराज सिदार, गणेश सिदार, कु रूपा राजेश्वर, राजेश उरांव, अमर सिंह सिदार, मनीष कुंवर जी, दलबीर,सिदार, तेज कुमार ध्रुव, राम बगस नेताम, विजय सरल, नोहर लाल मंडावी, डॉ कल्पना बरिहा, डॉ योगेश बरिहा, डॉ अर्चना बरिहा, राजेश कुमार भोई, मनहरण लाल अमलीवार, श्रीमती शिवकुमारी, द्रोपती, उमा एवं कलावती सिदार चारो जनपद सदस्य, सरीता सिदार, फगुलाल बरिहा, जवाहिर खैरवार, ठंठा राम, ओमप्रकाश नेताम पूर्व beo SS कंवर जी रहे इनके अतिरिक्त सभी आदिवासी जाति वर्ग के समाज प्रमुख, अध्य्क्ष पंच,सरपंच सहित हजारों की संख्या में दर्शक गण दूर दूर से आकर सम्मिलित हुए। सभी अतिथियों ने एक स्वर में एकता का सुर बुलन्द किया तथा अपने-अपने उद्बोधन में आदिवासियों पर हो रहे अत्याचार, समाधान, शिक्षा, रोजगार, नशाखोरी के परिणाम, सामाजिक एवं आर्थिक चेतना ओर विकास जैसे महत्वपूर्ण बिंदुओं पर चर्चा किया गया।

इस कार्यक्रम को सफल बनाने में आदिवासी समाज के कर्मठ एवं समर्पित में से रवि सिदार, युधिष्ठिर राज, बृजभान, जगत, रोहित सिदार, महेत्तर लाल सिदार, सहदेव सिदार,  विद्याभूषण बाँसवार, कीर्तन ध्रुव, जितेन्द्र सिदार लक्ष्मण सिदार, संजय सिदार, जितेंद्र नेताम, सन्तन, रामु सिदार अमर जगत, श्रवण नेताम, आदि युवक युवतियां, एवं मातृ शक्तियां का विशेष योगदान रहा।

Tags

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.