Type Here to Get Search Results !

छत्तीसगढ़ राज्य प्राचार्य पदोन्नति संघर्ष मोर्चा" के द्वारा प्राचार्य पदोन्नति के लिए 20 अगस्त 2023 को राजधानी रायपुर में "राज्य स्तरीय व्याख्याता /प्रधान पाठक महापंचायत" सफलतापूर्वक संपन्न हुई

स्कूल शिक्षा विभाग में 11 वर्षों से रुकी प्राचार्य पदोन्नति का आदेश जारी करवाने प्रदेश के बस्तर , सरगुजा सहित दूरस्थ वनांचल क्षेत्रों से सैकड़ों वरिष्ठ व्याख्याता एवं प्रधान पाठकों ने "राज्य स्तरीय महापंचायत" में शामिल होकर मुख्यमंत्री एवं स्कूल शिक्षा मंत्री को सौंपने "महापंचायत" में सर्वसम्मति से पारित किए प्रस्ताव                               

                               

रायपुर/ "छत्तीसगढ़ प्रदेश में स्कूल शिक्षा विभाग अंतर्गत 11 वर्षों से रुकी हुई प्राचार्य पदोन्नति का आदेश जारी करवाने के लिए पूरे प्रदेश से सैकड़ों नियमित वरिष्ठ व्याख्याता एवं प्रधान पाठक "छत्तीसगढ़ राज्य प्राचार्य पदोन्नति संघर्ष मोर्चा" के द्वारा 20 अगस्त 2023 को रंगमंदिर प्रेक्षागृह, गांधी मैदान रायपुर में आयोजित किए गए "राज्य स्तरीय व्याख्याता-प्रधान पाठक महापंचायत" (State Level Lecturers- Head Master's Maha Panchayat-2023) में प्रदेश संयोजक सतीश प्रकाश सिंह की अगुवाई में उत्साहपूर्वक सम्मिलित होकर मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल तथा स्कूल शिक्षा मंत्री श्री रविन्द्र चौबे को सौंपने के लिए "महापंचायत" में सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित किए गए। 

प्रदेश के दूरस्थ बस्तर संभाग, सरगुजा संभाग सहित विभिन्न जिले से सैकड़ों की संख्या में नियमित वरिष्ठ व्याख्याता एवं प्रधान पाठकों ने प्राचार्य पदोन्नति के लिए अपनी एकजुटता को प्रदर्शित करते हुए "छत्तीसगढ़ राज्य प्राचार्य पदोन्नति संघर्ष मोर्चा" तथा सहयोगी संगठन "छत्तीसगढ़ प्रगतिशील एवं नवाचारी शिक्षक महासंघ" (CGPITF) के द्वारा राजधानी रायपुर में आयोजित किए गए "राज्य स्तरीय व्याख्याता/प्रधान पाठक महापंचायत" (State Level Lecturers - Head Master's Maha Panchayat-2023) में उत्साहपूर्वक सम्मिलित होकर "प्राचार्य पदोन्नति का आदेश जारी करवाने" के लिए अपनी आवाज़ बुलन्द की । 

"राज्य स्तरीय व्याख्याता/प्रधान पाठक महापंचायत" में प्रदेश के दूरस्थ वनांचल क्षेत्रों से आए हुए वरिष्ठ व्याख्याताओं एवं प्रधान पाठकों को संबोधित करते हुए "छत्तीसगढ़ राज्य प्राचार्य पदोन्नति संघर्ष मोर्चा" के प्रदेश संयोजक सतीश प्रकाश सिंह ने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश में स्कूली शिक्षा को बेहतर बनाने के लिए कार्य कर रही हैं, किंतु यह चिंताजनक हैं कि प्रदेश में स्कूल शिक्षा विभाग अंतर्गत 3266 से अधिक शासकीय हाई स्कूल एवं हायर सेकेण्डरी स्कूल बिना पूर्णकालिक प्राचार्य के संचालित हो रहे हैं ।

प्रदेश में विगत 11 वर्षों से प्राचार्य पदोन्नति नहीं की गई हैं। प्रदेश के 3266 से अधिक शासकीय हाई स्कूल एवं हायर सेकंडरी स्कूलों में प्राचार्य के पद रिक्त पड़े हैं। इन 3266 से अधिक शासकीय हाई स्कूल एवं हायर सेकेण्डरी स्कूलों में पूर्णकालिक प्राचार्य के नहीं होने से प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था तथा शिक्षा गुणवत्ता प्रभावित हो रही हैं।

"राज्य स्तरीय महापंचायत" में छत्तीसगढ़ राज्य प्राचार्य पदोन्नति संघर्ष मोर्चा के प्रदेश संयोजक सतीश प्रकाश सिंह ने प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल तथा स्कूल शिक्षा मंत्री श्री रविन्द्र चौबे से 11 वर्षों से प्राचार्य पदोन्नति से वंचित नियमित व्याख्याता एवं प्रधान पाठकों से प्राचार्य के रिक्त समस्त पदों पर अविलंब पदोन्नति आदेश जारी करने की पुरजोर मांग की।

प्रदेश संयोजक सतीश प्रकाश सिंह ने स्कूल शिक्षा विभाग में "टी" तथा "ई" संवर्ग के समस्त पात्रताधारी नियमित व्याख्याता एवं प्रधान पाठकों से प्रदेश के सभी रिक्त प्राचार्य के पदों पर पदोन्नति की सम्पूर्ण कार्यवाही को अविलंब पूर्ण किया जाकर प्राचार्य पदोन्नति का आदेश जारी करने की मांग की। ताकि प्रदेश के सभी शासकीय हाई स्कूलों एवं हायर सेकेण्डरी स्कूलों में पूर्णकालिक प्राचार्य की पदस्थापना की जा सकें। वर्तमान में प्रदेश के 3266 से अधिक शासकीय हाई स्कूल एवं हायर सेकेण्डरी स्कूलों में पूर्णकालिक प्राचार्य नहीं हैं, जहां प्रभारियों के भरोसे काम चलाया जा रहा हैं। इन समस्त स्कूलों में पूर्णकालिक प्राचार्य की पदस्थापना होने से प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था तथा शिक्षा गुणवत्ता में बेहतर सुधार होगा। प्रदेश संयोजक सतीश प्रकाश सिंह ने मुख्यमंत्री जी तथा स्कूल शिक्षा मंत्री जी से मांग की हैं कि स्कूल शिक्षा विभाग में 11 वर्षों से अपनी पदोन्नति का इंतेजार कर रहे सैकड़ों वरिष्ठ व्याख्याता तथा प्रधान पाठकों को प्राचार्य पद पर पदोन्नति देने से शासन पर किसी भी प्रकार का अतिरिक्त वित्तीय भार नहीं पड़ेगा, क्योंकि पदोन्नत होने वाले समस्त वरिष्ठ व्याख्याता तथा प्रधान पाठक वर्तमान में प्राचार्य पद का ही वेतनमान लेबल एवं ग्रेड पे पा रहे हैं, इसलिए प्रदेश के शिक्षा हित में यह अति आवश्यक हैं कि अविलंब प्राचार्य के 3266 से अधिक रिक्त पदों पर नियमित व्याख्याता तथा पाठक पाठकों से प्राचार्य पदोन्नति की जावें। 

राज्य स्तरीय व्याख्याता/प्रधान पाठक महापंचायत ( State Level Lecturer's- Head Master's Maha Panchayat-2023) की सबसे विशेष बात यह रही कि कार्यक्रम में "मुख्य अतिथि" तथा "विशिष्ट अतिथि" के रुप में प्रदेश के ऐसे वरिष्ठ व्याख्याता तथा प्रधान पाठकों को चयन किया गया, जिनकी सेवानिवृत्ति छह माह या एक साल बाकी हैं। मंच पर "मुख्य अतिथि" तथा "विशिष्ट अतिथि" के रूप में अपने आप को सम्मानित पाकर सेवानिवृत्ति की कगार पर पहुंच चुके सभी वरिष्ठ व्याख्यातागणों एवं प्रधान पाठकों ने प्रदेश संयोजक सतीश प्रकाश सिंह के अथक प्रयासों तथा अनवरत कार्यों की भूरि-भूरि सराहना की । इस अवसर पर प्रदेश के समस्त नियमित व्याख्याता एवं प्रधान पाठकों के हितों के लिए आगे आकर कार्य करने के लिए प्रदेश संयोजक सतीश प्रकाश सिंह को माल्यार्पण कर एवं बुके भेंट कर सम्मानित किया गया। 

कार्यक्रम में "मुख्य अतिथि" के रुप में रायपुर की सेवानिवृत व्याख्याता श्रीमती कुमुद लाड उपस्थित थी। कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रदेश संयोजक सतीश प्रकाश सिंह के द्वारा किया गया। 

मंच पर "विशिष्ट अतिथि" के रूप में वरिष्ठ व्याख्यातागण - आत्माराम खूंटे कोरबा, श्रीमती प्रभा शर्मा रायगढ़, शरद प्रधान महासमुंद, श्रीमती जया ईशाक बस्तर, श्रीमती पुष्पा पटेल दुर्ग, श्रीमती अवंतिका गजोरिया वरिष्ठ प्रधान पाठक अम्बिकापुर सरगुजा, राजकुमार रामटेके कोंडागांव, घनश्याम सिंह साहू धमतरी, कामता प्रसाद सिन्हा राजनांदगांव, सौरभ जकरिया वरिष्ठ प्रधान पाठक कोरबा, विंसेंट किस्पोट्टा कुनकुरी जशपुर, शुकलाल भगत जशपुर, गोवर्धन पांडेय जगदलपुर बस्तर , श्रीमती शोभा खंडेलवाल सचिव भातखंडे ललित कला शिक्षा समिति रायपुर उपस्थित थे। 

"राज्य स्तरीय व्याख्याता/प्रधान पाठक महापंचायत" में प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था, प्राचार्यों एवं शिक्षकों के द्वारा शिक्षा के क्षेत्र में योगदान, शैक्षिक समस्याएं तथा उनका समुचित निदान, शैक्षिक नवाचार, आधुनिक शिक्षा को बेहतर बनाने के लिए उपलब्ध संसाधनों का उपयोग, शाला में शैक्षणिक वातावरण को बेहतर बनाने के उपाय, छात्र - शिक्षक की बॉन्डिंग, विद्यार्थियों के कैरियर निर्माण में प्राचार्य शिक्षकों की प्रभावी भूमिका, प्राचार्य पदोन्नति के लिए आवश्यक विषयों पर विभिन्न वक्ताओं ने अपने विचार व्यक्त किए। प्रमुख वक्ताओं में - त्रिवेणी प्रसाद झारिया सरगुजा, राजकुमार रामटेके कोंडागांव, श्रीमती पुष्पा पटेल दुर्ग, कामता प्रसाद सिन्हा राजनांदगांव, अशोक चौहान सक्ती, अनिल कपूर तिग्गा जशपुर, रमेश उपाध्याय जगदलपुर बस्तर, सौरभ जकरिया कोरबा, श्रीमती भावना दीक्षित बस्तर, जगन्नाथ पाणिग्रही बस्तर,श्रीमती पूर्णिमा मिश्रा बिलासपुर, श्रीमती अलका गांगुली बिलासपुर, श्रीमती गीता हलधर बिलासपुर , श्रीमती सपना गांगुली बिलासपुर, श्रीमती प्रभा शर्मा रायगढ़, एस.एन.शिव कोरबा, अनिल फ्रांसिस जशपुर, राधे लाल जायसवाल कसडोल, अवंतिका गजोरिया सरगुजा, भागलाल कोसले बलौदा बाजार, जगन्नाथ हिमधर कोरबा, अरुण कुमार साहू बलौदा बाजार, सैय्यद नज़ीर अली बेमेतरा, जे आर कोसरिया बस्तर, महेश्वर जयसिंधु नगरी धमतरी, रामप्रसाद नेगी कांकेर, राजकुमार जायसवाल बेमेतरा, मोहर सिंह शास्त्री जशपुर, आदि ने अपने सार्थक विचार व्यक्त किए। 

"राज्य स्तरीय व्याख्याता/प्रधान पाठक महापंचायत" में प्रदेश के विभिन्न ज़िले से नियमित व्याख्याता तथा प्रधान पाठकों ने उत्साहपूर्वक सम्मिलित होकर प्राचार्य पदोन्नति का आदेश जारी करवाने के लिए एकजुट होकर संकल्प लिए ।

"राज्य स्तरीय व्याख्याता/प्रधान पाठक महापंचायत" में शासन से अविलंब प्राचार्य पदोन्नति का आदेश जारी करवाने के लिए सर्वसम्मति से पारित किए गए एक सूत्रीय "प्राचार्य पदोन्नति का आदेश जारी करने के प्रस्ताव" को प्रदेश के मुख्यमंत्री जी, स्कूल शिक्षा मंत्री जी, छत्तीसगढ़ शासन के मुख्य सचिव, स्कूल शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव, स्कूल शिक्षा विभाग के सचिव तथा संचालक लोक शिक्षण संचालनालय छत्तीसगढ़ रायपुर को मांगपत्र के साथ प्रेषित किया जावेगा । 

कार्यक्रम में मंच संचालन वरिष्ठ व्याख्याता भागलाल कोशले तथा छत्तीसगढ़ प्रगतिशील एवं नवाचारी शिक्षक महासंघ (CGPITF) के बस्तर संभाग सहसंयोजक दीपक प्रकाश के द्वारा किया गया। कार्यक्रम को सफल बनाने में प्राचार्य पदोन्नति संघर्ष मोर्चा के स्टेट कोर कमेटी सदस्य अनिल कुमार तिग्गा जशपुर, अशोक चौहान सक्ती, एस.एन. शिव कोरबा, राजकुमार रामटेके कोंडागांव, मिलन राज कोरबा, श्रीमती भावना दीक्षित बस्तर, श्रीमती जया ईशाक बस्तर , अंजुम मिर्जा बेग बस्तर, रमेश उपाध्याय बस्तर, आशा उपाध्याय बस्तर, जगन्नाथ पाणिग्रही बस्तर, जे.आर.कोसरिया बस्तर, के एल डहरिया कोरबा, एम एल टंडन बालोद, चंद्र कुमार सार्वा सुकमा, भरत लाल घृतलहरे सिमगा, जीवन लाल कोसले बलौदा बाजार, ओस्कर एक्का बलौदा बाजार, कामता प्रसाद सिन्हा राजनांदगांव, राधे लाल जायसवाल कसडोल, भरत लाल घृतलहरे बलौदा बाजार, डी आर साहू बालोद, अशोक कुमार ठाकुर जांजगीर, याकूब तिर्की सरगुजा, विंसेंट किस्पोट्टा कुनकुरी जशपुर, छत्तीसगढ़ प्रगतिशील एवं नवाचारी शिक्षक महासंघ के रायपुर जिला इकाई सहसंयोजक निकेश शर्मा, योगिता यदु ने सक्रिय योगदान दिया। कार्यक्रम के अंत में आभार प्रदर्शन राज्य कोर कमेटी के सदस्य रमेश कुमार साहू वरिष्ठ व्याख्याता दुर्ग के द्वारा किया गया।

Tags

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.