Type Here to Get Search Results !

भोली सूरत वाला आलोक मौर्या भी नहीं है साफ, उसके ये झूठ देते हैं सबू......

आलोक मौर्या ने अपनी पत्नी पर कई आरोप लगाए हैं. आलोक का कहना है कि उसने ज्योति के पढ़ाई पर पानी की तरह पैसा बहाया, ताकि उसकी पत्नी एक अधिकारी बन सके.

प्रयागराज= एसडीएम ज्योति मौर्या (Jyoti Maurya) और उसके पति आलोक मार्या के बीच चल रहा विवाद इन दिनों सुर्खियों में है. आलोक ने अपनी पत्नी ज्योति पर कई आरोप लगाए हैं. सोशल मीडिया पर आलोक को सही बता कर तमाम लोगों ने उनका खूब समर्थन भी किया है. लेकिन, भोली सी सूरत वाला आलोक भी पाक साफ नहीं है. आलोक मौर्य से लेकर ज्योति मौर्या के परिवार वालों तक बातचीत की. यही नहीं, आलोक मौर्य के वकील हृदय लाल मौर्या से भी बातचीत की गई. सभी से बातचीत से तमाम चीजें निकल कर सामने आ रही हैं, जिसपर पर्दा डालना पड़ा मुश्किल है.एक पक्ष जो कि ज्योति का समर्थन कर रहा है, उनका कहना है कि पत्नी का कथित अफेयर मनीष दुबे के साथ चलने से आलोक काफी डिस्टर्ब हो गया, उसने अफेयर को उसके एसडीएम बनने के कहानी से जोड़ दिया. जबकि देखा जाए तो ज्योति एसडीएम बनने के लिए खुद ही सक्षम थी. भले ही आर्थिक रूप से ही क्यों ना हो.

क्या पत्नी को पढ़ाकर एसडीएम बनाने वाली बात झूठ?

एसडीएम बनने से पहले ज्योति कई सरकारी नौकरी छोड़ चुकी है. ज्योति को सबसे पहली नौकरी सरकारी टीचर की मिली. उसके बाद ज्योति समीक्षा अधिकारी बनी. अब सवाल यह उठता है कि जो महिला दो सरकारी नौकरी छोड़ चुकी हो, उसे आर्थिक रूप से भला कौन मदद करता होगा. आलोक मौर्य ने लव विद अरेंज मैरिज की है. उसकी दोस्ती ज्योति मौर्या से सन 2008 में हुई. दोनों के बीच अफेयर चला और उसके बाद आलोक ने सन 2010 में ज्योति मौर्या से शादी की.शादी के बाद ज्योति मौर्या कुछ करना चाहती थी. जिसके लिए शुरुआती दौर में आलोक ने ज्योति की मदद की. कुछ ही साल बाद ज्योति को सरकारी नौकरी टीचर में मिल गई, जिसके बाद ज्योति खुद ही कम आने लगी. उसके बाद ज्योति ने टीचर रहते तैयारी कर समीक्षा अधिकारी बनी. उस वक़्त ज्योति मौर्या की सैलरी खुद ही ठीक-ठाक थी. वह अपने पति से ज्यादा कमाती थी.

ज्योति मौर्या के भाई ने खुद बताया था

आलोक मौर्य व ज्योति मौर्या के परिवार वालों से बातचीत की थी. उस दौरान ज्योति मौर्या के भाई ने बताया था कि आलोक मौर्य द्वारा शुरुआती पढ़ाई में पैसा जरूर खर्च किया गया. लेकिन कुछ ही साल बाद सिस्टर को सरकारी नौकरी मिल गई. वह खुद ही कमाने लगी. वह अपने कमाई के पैसे से पढ़ाई करती थी और आलोक को आर्थिक रूप से मदद करती थी. ऐसे में एसडीएम बनने पर खर्च किए गए पैसे का आरोप सरासर गलत है.ट

क्या सच में ज्योति को आलोक अपनी स्कूटी से कोचिंग ले जाता था?

खुद ही स्कूटी से आती जाती थी कोचिंग वही आलोक ने यह भी आरोप लगाया था कि वह अपनी पत्नी को कोचिंग ले जाने व छोड़ने खुद ही तक जाता था. लेकिन वही ज्योति मौर्या के भाई का कहना है कि उनकी बहन खुद ही स्कूटी चलाती हैं और वह खुद ही तैयारी के लिए कोचिंग स्कूटी से आया जाया करती थी. आलोक द्वारा तमाम लगाए गए आरोप को काफी हद ज्योति मौर्या के भाई ने गलत बताया है.

पत्नी ने टीचर की नौकरी में धांधली की तो क्यों चुप रहा आलोक?

यही नहीं आलोक मौर्य ने अपनी पत्नी की पहली टीचर की नौकरी में B.Ed धांधली तरीके से करने का भी आरोप लगाया है. अब सवाल यही उठता है कि अगर पत्नी ने शुरुआती नौकरी धांधली से पाया तो उस वक्त आलोक क्यों चुप रहा? अब रिश्ते में खटास आने के बाद वह उन बातों को उठा कर क्या साबित करना चाहता है? ऐसे ही तमाम और भी अन्य आरोप आलोक द्वारा लगाए गए हैं जिस पर कहीं ना कहीं सवाल उठता दिखाई पड़ रहा है.


ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें Newskhabar36.in हिंदी ताजा खबर,लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट Newskhabar36.in हिंदी विज्ञापन ऐड हेतु संपर्क करें।

MO=7440874197 Newskhabar36.in

Newskhabar36.in web print news

न्यूज़ खबर 36 वेब प्रिंट

के लिए समस्त सभी क्षेत्रों में संवाददाता की जरूरत है।

अनुभवी पत्रकार अपनी खबर अपना नाम स्थान का नाम साथ में खबर हमें भेज सकते हैं 

 जो कोई पत्रकार बंधु अपनी खबर Newskhabar36.in लगवा सकते हैं 

इस ग्रुप में जुड़ना चाहते हैं तो 

https://chat.whatsapp.com/DpGEw1rHSxcF4WcXS9qZoy

 👆👆👆👆👆👆इस लिंग पर क्लिक कर ग्रुप में जुड सकते हैं और अपनी खबर भेज सकते हैं।

Tags

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.