Type Here to Get Search Results !

कमीशनखोरी की भेंट चढ़ रही पीएमजीएसवाई सड़क मरम्मत के कार्य, गिट्टी- डामर लेप की तस्वीर कर रही भ्रष्ट्राचार की कहानी खुद बयां, ग्रामीण करेंगे कलेक्टर से शिकायत

खिकराम कश्यप कोरबा 

कोरबा/पाली:- सरकार की महत्वाकांक्षी योजना प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत निर्मित सड़कों के मरम्मत कार्य में भारी कमीशन के कारण गिट्टी- डामर का लेप चढ़ रहा है। इस योजना के तहत वर्षों पूर्व बनाई गई सड़कें जर्जर हो जाने के कारण वर्तमान मरम्मत का कार्य चल रहा है जो भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ रही हैं। ग्रामीणों ने जिसका विरोध जताते हुए इसकी शिकायत कलेक्टर से करने की ठानी है।

उल्लेखनीय है कि लगभग 15 वर्ष पूर्व पीएमजीएसवाई के तहत निर्मित पाली से लाफा- जेमरा होते हुए रतखण्डी मार्ग काफी जर्जर हो जाने के कारण वर्तमान में लाफा से रतखण्डी तक 35 किलोमीटर मार्ग का मरम्मत कार्य चल रहा है। भारी- भरकम राशि से स्वीकृत मरम्मत के इस कार्य मे कमीशन खोरी के कारण सारे नियम- कायदे को हासिये पर रख दिया गया हैं और डामर- गिट्टी का लेप चढ़ाकर कार्य दिखाया जा रहा है। पीएमजीएसवाई योजना में नए सड़कों के निर्माण व पुराने जर्जर सड़कों के मरम्मत के लिए शासन द्वारा संबंधित विभाग को करोड़ों रुपए की राशि दी जाती है, लेकिन ठेकेदार और अधिकारी मिलकर सड़क का घटिया निर्माण और पुराने सड़कों का घटिया मरम्मत कर शासन को जमकर चूना लगा रहे हैं। जिसे शायद कोई देखने सुनने वाला नहीं है। जिले के ग्रामीण क्षेत्रो में इस योजना के तहत कुछ महीने बने अनेको सड़कों पर दरारें नजऱ आने की सूचना भी मिल रही है, लेकिन अधिकारियों तक कैसे सूचना नहीं पहुंच रही यह आश्चर्यजनक है। निर्माण कार्य में शासन द्वारा तय मापदंडों की अनदेखी करते हुए प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना में पक्की सड़कों का घटिया कार्य और मरम्मत बदस्तूर जारी है। जिससे अधिकारियों की कार्यशैली पर सवाल खड़े हो रहे है। लाफा से रतखण्डी तक किये जा रहे सड़क मरम्मत के लेप मोटर सायकल तो दूर महज सायकल के चलने से उखड़ने लगे है। जिसकी बिगड़ी तस्वीर भ्रष्ट्राचार की कहानी को खुद बयां कर रही है। 

बता दें कि ग्राम रतखण्डी बीहड़ वनांचल एवं पहाड़ी क्षेत्र होने के साथ पाली विकासखण्ड का अंतिम सीमांत है, जहां इस ग्राम से पेंड्रा- गौरेला- मारवाही जिला की सीमा लगी हुई है, जिस कारण इस मार्ग में हर रोज बड़ी संख्या में लोगों की आवाजाही होती रहती है। प्रधानमंत्री सड़क योजना के तहत निर्मित उतार- चढ़ाव वाले इस पक्की सड़क के घटिया मरम्मत से कहीं कोई हादसा न घटित हो इसका आभास अधिकारियों व मरम्मत करने वाले ठेकेदार को शायद नही है और जर्जर सड़क पर डामर का लेप चढ़ाकर मरम्मत कार्य में लीपापोती कर दी जा रही है। ग्रामीणों ने ठेकेदार की मनमानी और गुणवत्ताहीन काम को लेकर विरोध जताया है, वहीं जेमरा ग्राम पंचायत के सरपंच भँवर सिंह उइके ने कड़ा विरोध करते हुए कहा है कि घटिया मरम्मत कार्य की जानकारी विभागीय अफसरों को है। इसके बाद भी कार्रवाई करने के बजाय हाथ में हाथ धरे बैठे हुए हैं। निर्माण एजेंसी को विभागीय अफसरों का संरक्षण मिल रहा है। जिसके कारण ठेकेदार द्वारा मरम्मत में गुणवत्ता का ध्यान नहीं रखा जा रहा। जिससे सड़क का डामर हाथ से भी उखडऩे लगा है। ठेकेदार अपने मनमानी से सड़क मरम्मत के घटिया कार्य को खुलेआम अंजाम दे रहा है और ऐसा गुणवत्ता हीन कार्य तभी संभव है जब विभागीय अधिकारियों का साठ गांठ हो। उन्होंने इस मामले में ग्रामीणों के साथ मिलकर कलेक्टर से शिकायत करने की ठानी है ।



ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें NEWKHABAR36.in हिंदी ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट NEWKHABAR36.in हिंदी |

Tags

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.