मिली जानकारी के अनुसार, शहीद जवान पर हमला उस दौरान हुआ जब वह सड़क निर्माण कार्य में सुरक्षा देने के लिए तीमेनार कैंप से निकले थे। घटना की जानकारी पुलिस अधीक्षक आंजनेय वार्ष्णेय ने दी है।

शहीद जवान को दिया जाएगा गार्ड आफ ऑनर
पांच नक्सलियों को किया गिरफ्तार
सुकमा में सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड

मामला मिरतुर थानाक्षेत्र का है। नक्‍सलियों ने एटेपाल कैंप से एक किमी की दूरी पर टेकरी में आइईडी ब्‍लास्‍ट किया। जवान शहीद उत्तरप्रदेश के बलिया जिले के राजपुर गांव का निवासी था। बता दें कि जवान शहीद के पार्थिव शरीर को भैरमगढ़ थाने में गार्ड आफ ऑनर दिया जाएगा।

इससे पहले, 23 मार्च को सुकमा जिले के एर्राबोर थाना क्षेत्र के कोत्तालेंड्रा के जगंलों में जवानों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई। इस मामले में पांच नक्सलियों को गिरफ्तार किया गया। इस मुठभेड़ में चार से पांच नक्सलियों के घायल होने की सूचना मिली थी। पुलिस ने दावा किया है कि मुठभेड़ के बाद नक्सली अपने घायल साथियों को लेकर भाग गए।

छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में 25 फरवरी को सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच बड़ी मुठभेड़ हुई। इस मुठभेड़ में डिस्ट्रिक्ट रिजर्व ग्रुप (डीआरजी) के तीन जवान शहीद हो गए। यह मुठभेड़ जगरगुंडा के पास आश्रम पारा में हुई। इस दौरान दोनों ओर से ताबड़तोड़ फायरिंग हुई। इस दौरान बम धमाके की आवाज भी सुनी गई।

 छत्तीसगढ़ के सभी जिलों व ब्लॉक में रिपोर्टरों की आवश्यकता है बिल्कुल फ्री

विज्ञापन ऐड हेतु संपर्क करें सस्ते से सस्ते दामों पर