Type Here to Get Search Results !

हर आंख रही नम, सैनिक सम्मान गार्ड ऑफ ऑनर के साथ दी गई मेजर गगनदीप को विदाई

महासमुंद = बसना  शहीदों की चिताओं पर लगेंगे हर बरस मेले, वतन पर मरने वालों का यही बाकी निशा होगा...गीत की यह पंक्तियां गुरुवार को बसना नगर में उस वक्त साकार हो उठी जब झारखंड में रांची कर्रा के पास 17 जनवरी 2023 को सड़क दुर्घटना में मृत्यु हो जाने के बाद मेजर डॉ. गगनदीप सिंह भाटिया को अंतिम विदाई देने के लिए नगर बंद कर हजारों की संख्या में लोग उमड़ पड़े।  सुबह 8:15 बजे जब सेना के वाहन में मेजर डॉ. गगनदीप का पार्थिव शरीर जब उनके घर आंगन में पहुंची तो हर आंख नम हो उठी जिस आंगन में मेजर डॉ. गगनदीप सिंह राठिया खेले, कूदे, पढ़े हुए वहां आज उन्हें तिरंगे में लिपटे देख माता-पिता अपने बेटे के पार्थिव शरीर पर लिपट कर रोने लगे। वहीं मेजर की पत्नी, बहन एवं मां की चित्कार से लोगों की आंखें भी नम हो उठी।

मेजर के पार्थिव शरीर पर पुष्पवर्षा कर दी लोगों ने नम आंखों से अंतिम विदाई

डीजे के देशभक्ति गीतों के साथ फूलों से सजाये गये सेना के वाहन में मेजर डॉ. गगनदीप सिंह भाटिया का छायाचित्र वाहन के सामने लगाकर वाहन में पार्थिव शरीर का ताबूत रखकर परिजनों, सेना जवान, पुलिस, स्थानीय अधिकारियों, प्रदेश के भूतपूर्व सैनिकों, नगर सहित क्षेत्र के हजारों लोगों ने बसना पदमपुर मार्ग स्थित घर से अंतिम विदाई हेतु नगर के शहीद वीर नारायण सिंह चौक होते हुए गुरुद्वारा साहेब से वार्ड क्रमांक 04 के मुक्तिधाम पहुंचे। इस दौरान पूरे रास्ते लोगों ने भारत माता की जय और मेजर डॉ.गगनदीप सिह भाटिया अमर रहे के जयकारे गूंज उठे। लोग हाथों में तिरंगे झंडे लिए देशभक्ति गीतों के साथ पूरे मार्ग पर स्कूलों के बालक-बालिकाओं सहित क्षेत्र के बच्चे लेकर बुजुर्ग सभी वर्गो के लोगों ने अपने लाल को पुष्पवर्षा कर नम आंखों से अंतिम विदाई दी। इस दौरान गुरुद्वारा साहेब में परिजनों एवं सिक्ख समाज के लोगों ने सतनाम वाहेगुरु का जाप करते हुए अरदास कर मेजर को विदाई दी। मुक्तिधाम में सेना की टीम ने अपने जवान को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए मेजर डॉ. गगनदीप सिंह भाटिया के पिता डॉ. नगेन्द्र सिंह को तिरंगा भेंट करते हुए कहा कि 26 जनवरी व 15 अगस्त को तिरंगे को घर पर फहराया करना। सेना के जवानों ने पूरे सम्मान के साथ सैनिक सम्मान गार्ड ऑफ ऑनर दिया। इसके बाद मेजर के पिता ने चिता को मुखाग्नि दी। अंतिम संस्कार के दौरान लोगों की आंखें नम हो गई। इस दौरान नामकुम सैनिक हॉस्पिटल एमएच के मेजर राहुल जैन सूबेदार डीके मिश्रा हवलदार पाटिल निलेश, अखिल भारतीय भूतपूर्व सैनिक संघ सैनिकों, रायपुर एवं महासमुंद सैनिकों, एसडीएम सरायपाली हेमंत नंदनवार, बसना तहसीलदार रामप्रसाद बघेल, सरायपाली एसडीओपी अभिषेक केसरी, ऊनि जितेंद्र विजयवार, सउनि दुलारसिंग यादव सहित हजारों लोगों की उपस्थिति रही।

Tags

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.