Type Here to Get Search Results !

माहरा जाति को अनुसूचित जाति में शामिल करने की पुरजोर तैयारी ,दीपक बैज सांसद बस्तर

हरि सिंह ठाकुर जिला ब्यूरो बस्तर 

12 जातियों को अनुसूचित जाति में शामिल करने से पूरे प्रदेश की जनता राज्य सरकार को धन्यवाद देते हुए कोटि कोटि कोटि नमन किया है। वहीं माहरा समाज के द्वारा सदियों से ही अपनी जाति को अनुसूचित जनजाति में शामिल करने कोके लिए पूरी ताकत लगा चुकी है बस्तर संभाग में चार लाख से अधिक लोगों को आरक्षण का लाभ नहीं मिल पा रहा है जबकि माहरा समाज के लोग मूल रूप से निवास करते हैं जिन्हें लाभ से अभी भी वंचित होना पढ़ रहा है।

कभी उन्हें सामान्य वर्ग में रखा जाता है तो कभी पिछड़ा वर्ग में फिर पूर्व में एस सी में भी रखा गया था जबकि बस्तर अंचल में मूल रूप से राजा महाराजा के शासनकाल एवं बस्तर उत्पत्ति के समय से माहरा जाति का निवास बस्तर संभाग में देखा जा रहा है जिनका रीति रिवाज शादी ब्याह ,खानपान, देव धामी से लेकर सभी तरह की सामाजिक कार्य आदिवासियों से मिलता जुलता है एवं आदिवासियों के जैसा ही है सदियों से इस जाति को आदिवासी में शामिल करने की मांग चली आ रही है लेकिन इस बार बस्तर सांसद दीपक बैज ने लोकसभा एवं विधानसभा में प्रमुखता से माहरा जाति को एसटी वर्ग में शामिल करने के लिए आवाज उठाया है। वहीं आज बस्तर सांसद दीपक बैज ने फिर से माहरा जाति को आदिवासी में शामिल करने के बारे में मीडिया से चर्चा करते हुए बताया कि अभी आर जी एस एस की प्रक्रिया में बढ़ाया गया है साथ ही बस्तर सांसद ने माहरा जाति के लोगों को रखने की बात कहा है।



Tags

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.