Type Here to Get Search Results !

विधायक चंदन कश्यप ने क्षेत्र के शिक्षकों का किया सम्मान

हरि सिंह ठाकुर जिला ब्यूरो बस्तर

नारायणपुर विधानसभा क्षेत्र के समस्त शिक्षक - शिक्षिकाओं का नारायणपुर विधायक एवं छत्तीसगढ़ हस्तशिल्प विकास बोर्ड के अध्यक्ष श्री चंदन कश्यप ने शिक्षक दिवस के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम शिक्षक सम्मान समारोह में उपस्थित शिक्षक- शिक्षिकाओं को श्रीफल एवं साल देकर सम्मानित किया। कार्यक्रम शा.उ. मा. वि. करन्दोला (भानपुरी) के प्रांगण मे आयोजित हुआ जिसमें नारायणपुर विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत बस्तर ब्लॉक के शिक्षक- शिक्षिकाओं को विधायक ने सम्मानित किया साथ ही क्षेत्र के सेवानिवृत्त शिक्षक - शिक्षिकाओं को भी श्रीफल, साल एवं मोमेंटो प्रदान कर सम्मानित किया।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए विधायक चंदन कश्यप ने कहा कि हमारे गुरुओं के अनमोल मार्गदर्शन के बिना, समाज कुछ ही समय में ढह जाएगा, स्कूल को अक्सर एक छात्र के दूसरे घर के रूप में बताया जाता है और शिक्षकों को उनके माता-पिता के रूप में माना जाता है। एक बच्चे को नैतिकता, ईमानदारी, दया और नम्रता के रास्ते पर स्थापित करने की जिम्मेदारी शिक्षकों को दी जाती है, क्योंकि उनके जैसा कोई और बच्चों को प्रभावित नहीं कर सकता शिक्षक सम्मान समारोह उन सभी शिक्षकों की सराहना करने की मेरी एक छोटी सी कोशिश है, जो युवाओं को अपने भविष्य को खोजने में मदद करने के लिए अपना जीवन समर्पित करते हैं. हमारे समाज का आधार हैं क्योंकि वे बच्चों के रूप में राष्ट्र के भविष्य को सही आकार देने में बड़ा योगदान देते हैं, अर्थात छात्रों को देश के आदर्श नागरिक बनने में मार्गदर्शन करते हैं। शिक्षकों का कार्यकाल जिम्मेदारी और चुनौतियों से भरी है क्योंकि प्रत्येक छात्र एक जैसा नहीं होता है, इसलिए शिक्षक को अलग-अलग छात्रों के लिए अलग-अलग शिक्षण पैटर्न अपनाना पड़ता है। शिक्षण एक सामाजिक अभ्यास है और ज्ञान से अधिक

है। एक शिक्षक अच्छा इंसान होना चाहिए जो अपने कर्तव्य की ज़िम्मेदारी को अच्छी तरह से अपने कंधों पर उठा सकता हो और उस स्थिति की संवेदनशीलता को समझ सकता हो जहां विभिन्न पृष्ठभूमि वाले छात्र सीखने के लिए एक साथ आते हैं, जहाँ पढ़ाते समय शिक्षक अपनी क्षमता के सर्वश्रेष्ठ कौशल और ज्ञान का इस्तेमाल कर सकें।


शिक्षा विभाग अंतर्गत छ०ग० शासन की उपलब्धियां :

आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूलों की स्थापना

• बंद पड़े स्कूल प्रारंभ

• शासकीय कर्मचारियों-शिक्षकों का पेशन प्रारंभ

 • नवीन संकुलों का गठन कर शिक्षण व्यवस्था में सुधार किया गया है

• नवीन शिक्षकों के 14580 पदों पर भर्ती की प्रक्रिया पूर्ण हो चुकी है, वर्तमान में 10 हजार शिक्षकों की भर्ती की घोषणा माननीय मुख्यमंत्री जी द्वारा की गई है, जिसमें से 9 हजार पद सिर्फ बस्तर के हैं।

• स्थानांतरण नीति का सरलीकरण

साथ ही रिटायरमेंट शिक्षको का शिवराम मौर्य,ललित दामले, बी.आर. मरकाम,सी. आर.चंद्राकर,सीताराम पांडे, एच.आर. बघेल, मानिक राम कश्यप, बदरू राम कश्यप,श्रीमती शांति कर्ष,नीरा दामले समानित किया गया 

इस दौरान विधायक प्रतिनिधि सालिक बघेल,श्याम दीवान धनुर्जय नेताम, निलय कश्यप,श्याम सुन्दर पांडे, महेंद्र पांडे,सावित्री यादव श्याम कुमारी ध्रुव, जया ध्रुव,भारती पांडे,अचल बाजपाई,लखेश्वर ठाकुर जीवन सेठिया, बीईओ बी आर सी,अन्य शिक्षक उपस्थित थे

Tags

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.