Type Here to Get Search Results !

कीचड़ रास्ते से रोजाना स्कूल जाने को मजबूर हैं,बच्चों ने किया सड़क जाम

नामदेव साहू छत्तीसगढ़ संपादक

पिथौरा= स्कूल जाने का रास्ता बरसात के दिनों में कीचड़ से सन गया है। मजबूरी में बच्चे इस कीचड़युक्त रास्ते से रोजाना स्कूल जाने को मजबूर हैं। शिकायत के बाद भी समस्या के दूर नहीं होने से आक्रोशित बच्चों ने माता-पिता के साथ शनिवार को सड़कजाम कर दिया आंदोलन की जानकारी मिलते ही सांकरा पुलिस के साथ एसडीओपी विनोद मिंज मौके पर पहुंचे। पिथौरा तहसीलदार भी ग्रामीणों को समझाने में जुटे रहे पिथौरा ब्लाक के ग्राम भतकुंदा के सैकड़ों ग्रामीण व स्कूली बच्चों ने अधिकारियों से शिकायत करने के बाद भी उनकी समस्याओं के दूर नहीं होने पर शनिवार सुबह सांकरा से पिरदा पहुंच मार्ग पर जाम कर दिया।

आंदोलन कर रहे ग्रामीणों का कहना है कि गांव की विभिन्न समस्याओं को लेकर शासन-प्रशासन का लंबे समय से ध्यान आकर्षित करने के साथ हल करने की मांग कर रहे थे। ग्रामीणों में केवल शासन-प्रशासन से ही नहीं बल्कि ग्राम सरपंच के कार्यों को लेकर भी नाराजगी है। ग्रामीणों का कहना है कि पूर्व में जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी ने समस्याओं को दूर करने का आश्वासन दिया था, लेकिन अब तक समस्या दूर नहीं होने पर मजबूरी में उन्हें आंदोलन करना पड़ रहा है। चक्काजाम की जानकारी होने पर तहसीलदार और सांकरा पुलिस मौके पर पहुंचकर ग्रामीणों को समझाने का प्रयास करते रहे। लगभग तीन घण्टे बाद मौके पर बजरी मुरम भेजा गया और बुलडोजर भेजकर सड़क को तात्कालिक रूप से ठीक कराया गया, तब ग्रामीण शान्त हुए।

खराब सड़क की दशा सुधारने की मांग को लेकर बच्चों ने किया आंदोलन=

 लगातार अवकाश से महाविद्यालयों की रिक्त सीटों पर प्रवेश एक बार फिर प्रभावित हो गई है। इधर, तीसरे चरण के लिए आवेदन की प्रक्रिया शुरू हो गई है। शुक्रवार को आवेदन करने की प्रक्रिया का अंतिम समय था। महाविद्यालय 20 अगस्त को उक्त सूची विश्वविद्यालय को भेजता, लेकिन लगातार छुट्टी से प्रवेश एक बार फिर प्रभावित हो सकती है। इस बार 20 से 26 अगस्त तक प्रवेश होगा।

21 अगस्त को रविवार का अवकाश है। बाद 22 से कर्मचारी-अधिकारी हड़ताल पर जा सकते हैं। इससे प्रवेश प्रभावित रहेगी। बता दें कि जिले के तीन महाविद्यालयों में सीटें अभी भी खाली है, वहीं एक-दो महाविद्यालय में एक दो विषय की सीट खाली है। पहले व दूसरे चरण में चिरको, पिरदा व जिला मुख्यालय के माता कर्मा कन्या महाविद्यालय की सीटें नहीं भर पाईं। इसके अलावा तेंदूकोना व बागबाहरा में एक-एक विषय की सीटें खाली है।

Tags

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.