Type Here to Get Search Results !

बस्तर जिले के कलेक्टर ने शिक्षण सेवकों पर किया अपशब्दों का प्रयोग

स्थानीय अतिथि शिक्षक संघ( शिक्षण सेवक ) बस्तर

अपनी मांग सेवा बहाली को लेकर कलेक्टर महोदय के समक्ष गए थे उनके सामने उन्होंने अपनी मांग रखा तो कलेक्टर महोदय ने साफ मना करते हुए कहा कि आप लोगों की भर्ती गलत तरीके से हुई है आपकी सेवा बहाली नहीं होगी जाओ जिस के पास जाना है जो करना है करो साले 2 दिन में आ जाते हैं ज्ञापन लेकर ऐसे शब्दों का प्रयोग किया

 जिससे शिक्षण सेवक काफी नाराज है कलेक्टर ऑफिस से ही कलेक्टर हटाओ बस्तर बचाओ का नारा लगाते हुए उनके इस कार्य की निंदा की आपको बता दें कि गत 2019 से लेकर 2022 तक एकल शिक्षक एवं शिक्षक विहीन स्कूल पर अपनी सेवाएं दे रहे थे जिससे कि शिक्षा के क्षेत्र में बहुत कुछ सुधार हुआ किंतु सत्र 2022 अप्रैल से इनकी सेवा समाप्त कर दी गई इनकी नियुक्ति डीएमएफटी से की गई थी जिसकी अनुमोदन कलेक्टर महोदय के हाथ में है शिक्षण सेवक अपनी सेवा बहाली को लेकर कलेक्टर महोदय को पिछले 2 महीने से ज्ञापन सौंपा किंतु कुछ भी कार्रवाई नहीं हुआ यह देखते हुए शिक्षण सेवक पुनः 29/08/2022 को ज्ञापन के बारे में कलेक्टर महोदय के कार्यालय पहुंचे ज्ञापन देखकर शिक्षण सेवक के ऊपर कलेक्टर महोदय द्वारा सेवा बहाली नहीं करने की धमकी दी अभद्र व्यवहार किया गया यहां तक कहा गया कि आप लोग शिक्षक बनने के लायक नहीं हो।

 सेवा बहाली ना करने की दी धमकी=

 जिला मीडिया प्रभारी प्रेमसागर ठाकुर का कहना है की एक जिले के कलेक्टर होने के नाते उनका जो व्यवहार था सही नहीं था उन्होंने हमारी भर्ती प्रक्रिया पर भी उंगली उठाते हुए गुस्से के साथ आंखें दिखाते हुए अपशब्दों का प्रयोग करते हुए कहा आप की नियुक्ति गलत तरीके से हुई है और जाओ जहां जाना है तुम्हारा नहीं होने वाला मैं लिख कर देता हूं साले तुम लोग समझते नहीं हो हर जगह नेतागिरी करते हो इस तरीके से भाषा का प्रयोग किया गया बस्तर जिले के कलेक्टर होने के नाते उनकी वाणी अभद्र पूर्वक है इसकी हम घोर निंदा करते हैं, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के सामने कलेक्टर महोदय जी बयान करते है कि हम शिक्षक बनने के लायक नहीं हैं तो हम उनसे कहना चाहते हैं कि सत्र 2019 से लेकर कोरोना माहमारी के साथ अप्रैल 2022 तक हमसे सेवा ली गई उस समय हम योग्य थे तो आज क्यों नही ? अभी संभाग के सभी जिले में सेवा बहाली हो चुकी है बस्तर जिले में ही नही हो पायी है हमारी मांग जायज है उसे पूरा करना चाहिए अगर हमारी सेवा बहाली 10 दिवस के अंदर नहीं होगी तो हमारा आंदोलन उग्र हो जाएगा और हम सड़क पर उतरने बाध्य हो जाएंगे।

     उपस्थित जिलाध्यक्ष मनोज कुमार ठाकुर, उपाध्यक्ष कुलदीप कश्यप,मीडिया प्रभारी प्रेमसागर ठाकुर,सचिव रुकधर कश्यप, सुभाष कश्यप,गोविंद मंडावी,तुलसी मौर्य,ठाकुर राम,कमलेश,उग्रसेन पांडे, हेमलाल दीवान,रजनी नाग ,पदमश्री ठाकुर कौशल्या सेठिया,उमिता निर्मलकर, श्रद्धा गुप्ता अनीता पानीग्राही तथा समस्त शिक्षण सेवक उपस्थित थे।

Tags

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.