Type Here to Get Search Results !

प्रदेश में सूखे के हालात पर बृजमोहन ने साधा सरकार पर निशाना

 छत्तीसगढ़ के कई तहसीलों में सूखे के हालात हैं. अगस्त और सितंबर में बारिश होने पर भी पानी की कमी दूर नहीं होने की बात कृषि विशेषज्ञ कर रहे हैं. इस पर भाजपा नेता बृजमोहन अग्रवाल ने सरकार को घेरते हुए कहा कि यह छत्तीसगढ़ की अनिर्णय की सरकार है. छत्तीसगढ़ की सरकार किसानों के भविष्य को अंधेरे में डुबोने की जिम्मेदार है. इस सरकार के पास किसानों के लिए कोई कार्ययोजना नहीं है.

भाजपा के वरिष्ठ नेता बृजमोहन अग्रवाल ने राज्य सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि मैं भी कृषि मंत्री रहा हूं. पहले से प्लान बनता है, इमरजेंसी प्लान बनता है, जो एग्रीकल्चर कमिश्नर है वह संभागों में जाकर बैठक लेते हैं, ए प्लान, बी प्लान, सी प्लान, पानी अच्छा गिरा तो क्या होगा? पानी ज्यादा गिरा तो क्या होगा? पानी कम गिरा तो क्या होगा? इस सरकार के पास तो सामान्य पानी की स्थिति में ही बीज उपलब्ध नहीं है, खाद उपलब्ध नहीं है, अगर ज्यादा पानी गिरने से  फसलें खराब हो गई तो उनको दोबारा बीज कहां से उपलब्ध होगा? कुल मिलाकर छत्तीसगढ़ में अनिर्णय की सरकार है. यह किसानों के भविष्य को अंधेरे में डुबोने की जिम्मेदार है. इस सरकार के पास किसानों के लिए कोई कार्ययोजना नहीं है..


बेरोजगारी के आंकड़े को बताया झूठा  = CMIE ने प्रदेश के बेरोजगारी के नए आंकड़े जारी किए है, जिसमें जुलाई माह में छत्तीसगढ़ में बेरोजगारी दर मात्र 0.8% हैं. देश में सबसे कम बेरोजगारी दर के आंकड़े को पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने झूठा करार देते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ छोटा राज्य हैं. यहां बेरोजगार कार्यालय में 21 लाख बेरोजगार रजिस्टर्ड है, कितनों को रोजगार मिला इनके होडिंग्स में लगता है. 5 लाख लोगों को रोजगार दिया, फिर लगता है 4 लाख लोगों को दिया, राहुल गांधी के सामने बोलते हैं 3 लाख लोगों को रोजगार दिया और जब हम विधानसभा में प्रश्न पूछते हैं तो जवाब आता है 18,000 लोगों को. यह जवाब तो सरकार का है, मेरा जवाब नहीं है.

Tags

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.