Type Here to Get Search Results !

शराब पकड़ने गये आबकारी अमले ने, ग्रामीण के घर में रखे बैग से 40 हजार रू. निकाल लिये..!

महासमुंद= आबकारी विभाग एक बार फिर से विवादों में फंसता नजर आ रहा है। इससे पहले भी विभाग द्वारा वसूली, धक्का मुक्की और मौत होने के, मामले चल रहे हैं। आरोप है की आबकारी विभाग द्वारा फर्जी प्रकरण बनाकर 40 हजार रुपए लेने व धमकाने पर पीड़ित पक्ष ने पुलिस व एसडीएम को आवेदन दिया है।

मामला सिंघोड़ा थाना क्षेत्र के ग्राम मानपाली का है। जहां एक गरीब परिवार ने आबकारी विभाग सरायपाली पर शराब का फर्जी प्रकरण बनाना, मारपीट करना और 40 हजार रुपए लेने का संगीन आरोप लगाया है। पीड़ित पक्ष के महेंद्री, जयंती बाघ ने थाने में आवेदन देकर थ्प्त् की मांग कि है थाना सिंघोड़ा में मामले की शिकायत करते हुए लिखा है कि 24 अगस्त को दोपहर 3 बजे उनके घर पर आबकारी विभाग का दल पहुंचा, जिसमें 5 पुरुष और एक महिला अधिकारी थी। वे बिना किसी पूर्व सूचना के घर में घुसकर खोजबीन करने लगे। तब घर में दो महिला एवं एक वृद्ध पुरुष सदस्य ही थे।

 जांच के दौरान दल ने बिरो बाघ का आधार कार्ड तथा श्रीमती जयंती का वोटर आईडी कार्ड और घर में एक बैग में रखे नगदी 40हजार रुपए को निकाल कर ले गए प्रार्थी बाघ ने बताया की उक्त जांच में कोई भी शराब अथवा संदिग्ध सामान उनके घर पर नहीं मिला, तो आबकारी के अधिकारियों ने अपने पास रखे शराब को घर के दरवाजे के सामने रखकर फोटो खिंचा और वृद्धि बिरो बाघ को अपने साथ गांव के बाहर ले गए मारपीट कर उसे शराब अपना है कहने को कहा। फिर घर वापस आकर घर में सभी आवेदक का हस्ताक्षर लिया और सभी को छोड़कर चले गए।

आगे बताया की आबकारी विभाग के एक कर्मचारी ने स्वयं अपने हाथ से अपना मोबाइल नंबर 7974678635 लिखा और अपना पता जगन्नाथ विहार झिलमिला लिखकर दिया और दूसरे दिन सुबह 20हजार लेकर आने को कहा अन्यथा घर के सभी लोगों के विरुद्ध कानूनी कारवाही की धमकी दिया गया है। आबकारी विभाग कि झूठी कारवाही के साक्षी महेंद्र टोप्पो, संजीव बाघ हैं। प्रार्थी के अनुसार, जांच के दौरान घर के पुरुष सदस्य भोलानाथ बाघ, राजकुमार बाघ घरेलू कार्य से बाहर गए हुए थे।

उन्होंने बताया की, 49000 रुपए 22 अगस्त को बैंक से उसने निकाला था, जिसमें 9000 खर्च करने पर 40000 रुपए शेष बचा था। जिसे आबकारी विभाग के लोग ले गए हैं। पीड़ित परिवार ने आबकारी विभाग द्वारा घर से ले गए 40हजार रुपए को वापस दिलाने एवं सुरक्षा देने की मांग की है।

इस मामले में सरायपाली एसडीओपी विकास पाटले का कहना है कि आबकारी विभाग के विरूद्ध शिकायत आई है। जांच पड़ताल करने के बाद ही सत्यता का पता चल पाएगा। मामले की जांच की जाएगी।

Tags

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.