Type Here to Get Search Results !

जनपद अध्यक्षा को धमकी भरा पत्र, पति को वनोपज संघ के चुनाव से दूर रखने की चेतावनी

कार्रवाई और सुरक्षा की मांग

नामदेव साहू जिला ब्यूरो महासमुंद 

महासमुंद=जिला लघु वनोपज संघ के पूर्व अध्यक्ष हितेश चंद्राकर की धर्मपत्नी और जनपद पंचायत बागबाहरा के अध्यक्ष श्रीमती स्मिता चंद्राकर को धमकी भरा पत्र मिला है। श्रीमती चंद्राकर में इसकी सूचना पुलिस को देते हुए उचित कार्रवाई की मांग की है। प्राप्त जानकारी के अनुसार कल रविवार की सुबह भानपुर स्थित उसके मकान के आंगन से लगे दरवाजे के पास एक पत्र मिला, जिस पर लिखा हुआ है कि, तुमको अगर अपने परिवार की जान प्यारी है तो अपने पति हितेश चंद्राकर को वनोपज संघ के चुनाव से अलग कर लो। अन्यथा अंजाम भुगतने के लिए तैयार रहो। तुमको भी अपना पद गंवाना पड़ेगा और तुम्हारे परिवार की जान भी खतरे में हैं। उक्त धमकी भरे पत्र को लेकर गंभीर हुई जनपद अध्यक्ष श्रीमती चंद्राकर ने बागबाहरा पुलिस से यथोचित कार्रवाई की मांग की है।            


ज्ञातव्य है कि, जनपद पंचायत अध्यक्षा श्रीमती स्मिता चंद्राकर के पति हितेश चंद्राकर पूर्व में जिला लघु वनोपज संघ महासमुंद के अध्यक्ष रह चुके हैं। हितेश चंद्राकर के बाद अध्यक्ष बनने वाले विनोद चंद्राकर का कार्यकाल भी पूरा हो चुका है अब संघ के नए संचालक मंडल और अध्यक्ष का चुनाव होना बाकी है। हितेश चंद्राकर और उसका पैनल लघु वनोपज संघ के चुनाव में पूरी तैयारी के साथ उतरने के लिए तैयार है। पिछले दिनों वनोपज संघ के चुनाव के लिए नामांकन प्रक्रिया प्रारंभ होने के पहले ही दिन हितेश चंद्राकर अपने पूरे पैनल के साथ नामांकन दाखिले के लिए निर्वाचन कार्यालय पहुंचे थे मगर अचानक अधिकृत अधिकारी द्वारा स्वास्थ्य बिगड़ जाने की बात पर निर्वाचन कार्यक्रम संपन्न करा पाने में असमर्थता व्यक्त कर दिया गया। तबसे लघु वनोपज संघ के चुनाव की प्रक्रिया ठंडे बस्ते में चली गई है और अब हितेश चंद्राकर की धर्मपत्नी को धमकी भरा पत्र मिलने के बाद सियासी फिजा में भी हलचल मच गई है।

Tags

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.