Type Here to Get Search Results !

जंगल से भटके चीतल पर कुत्तो ने बोला हमला , ग्रामीणों ने बचाया

महासमुंद। बारनवापारा अभ्यारण्य के जंगल से भटक कर ग्राम के नजदीक पहुचे एक नर चीतल को आवारा कुत्तों ने घायल कर दिया। परन्तु वन कर्मियों द्वारा चीतल का प्रथम उपचार किये जाने से चीतल अभी भी उपचार रत है। मिली जानकारी के अनुसार शुक्रवार की सुबह एक नर चीतल गांव में घुस आया। गांव के मुहाने पर  इस भटके चीतल को आवारा कुत्ते दौड़ा रहे थे।।जिससे अपनी जान बचाने वह वन्यजीव गांव में इधर-उधर तेज भागकर बचने का प्रयास कर रहा था।इसी प्रयास में वह एक घर की  बाड़ी में छिप कर बैठ गया। इसके बाद ग्रामीणो ने आवारा कुत्तों को भगा कर वन अमले को इसकी सूचना दी

इधर वन विभाग के सूत्रों ने बताया कि एक नर चीतल को सुबह कुछ अवारा कुत्तों के दौड़ाने से घायल हो गया था एवं भागने के दौरान बोराबार से पैर पर चोट आयी थी, वो रेस्क्यू करके पशु चिकित्सक संगेल के मार्गदर्शन में वन स्टॉफ द्वारा उपचार किया गया है।. कुत्तों के द्वारा चीतल को दौड़ने की सूचना मिलते ही मुस्तैदी से लगकर रेस्क्यू को अंजाम दिया गया। वर्तमान में उपचार के लिये देखे में रखा गया है, जिसे उपचार के बाड कल स्वतंत्र विचरण के लिये जंगल में छोड़ा जायेगा। 

ज्ञात हो कि पहली बरसात के बाद वन्य प्राणी अक्सर बरसात में घोंघार मक्खी से बचने ग्राम की सरहद तक पहुच कर दुर्घटना का शिकार भी हो जाते है।इनमे हिरणों का झुण्ड जंगल से निकलकर बाहर मैदानों में आते हैं, जिन्हें आवारा कुत्ते दौड़ाते और साटी हुये बस्ती तक ले आये थे। बड़े, सिंग होने के कारण नर चीतल दौड़ने में असहज हो जाते हैं

Tags

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.