Type Here to Get Search Results !

मंत्री कवासी लखमा से मिले स्थानीय अतिथि शिक्षक(शिक्षण सेवक ट्युटर शिक्षक शिक्षा दूत) कल्याण संघ के प्रतिनिधि मुख्यमंत्री से मुलाकात कराने किया निवेदन

हरि सिंह ठाकुर ब्यूरो बस्तर

 स्थानीय अतिथि शिक्षक(शिक्षण सेवक ट्युटर शिक्षक शिक्षा दूत) कल्याण संघ,बस्तर संभाग (DMF) के पदाधिकारियों ने सर्व आदिवासी समाज संभाग अध्यक्ष श्री प्रकाश ठाकुर एवं सर्व आदिवासी जिलाध्यक्ष बस्तर गंगा राम नाग के मार्गदर्शन मे आबकारी ,वाणिज्य कर एवं उद्योग मंत्री माननीय श्री कवासी लखमा जी को अपने नौ सूत्रीय मांग को लेकर ज्ञापन सौपा,साथ ही मुख्यमंत्री जी से मुलाकात कराने अनुमति एवं निवेदन किया जिसमें श्री कोमल सिन्हा संभागीय सचिव स्थानीय अतिथि शिक्षक कल्याण संघ, बस्तर जिलाध्यक्ष मनोज कुमार ठाकुर,घस्सु बघेल नारायणपुर जिला सचिव, प्रवीण चन्द पटेल ,दामेश्वर दास साहू संभागीय मीडिया प्रभारी, शांति लाल कुमेटी जिलाध्यक्ष कांकेर आदि अतिथि शिक्षक उपस्थित थे। माननीय मंत्री द्वारा आश्वासन दिया गया कि आप लोगो के मांग को मुख्यमन्त्री जी एवं शिक्षा मंत्री जी के समक्ष रखूँगा।

*जब तक मांग पूरी नहीं होगी हड़ताल नहीं होगा ख़त्म-अध्यक्ष * = बता दे कि बीते 30 दिन से जगदलपुर के कृषि उपज मंडी  धरना स्थल मे स्थानीय अतिथि शिक्षक(शिक्षण सेवक ट्युटर शिक्षक शिक्षा दूत),बस्तर संभाग के द्वारा अनिश्चितकालीन हड़ताल जारी है,जिसमें सम्भाग के सभी जिलों के स्थानीय अतिथि शिक्षक शिक्षण सेवक ट्युटर शिक्षक अपनी मांग को लेकर आन्दोलन कर रहे है। स्थानीय अतिथि शिक्षक संघ के संभाग अध्यक्ष श्री हर्षजीत ठाकुर एवं कोषाध्यक्ष टोपेश्वर देवांगन का कहना है कि जब तक हमारी नौ सूत्रीय मांग पूरी नहीं हो जाती हड़ताल जारी रहेगा।12 माह जाब सुरक्षा कटनी छंटनी ना किया जाए सम्मान जनक वेतनमान राज्य अतिथि शिक्षक में समायोजित कर स्कूल शिक्षा विभाग से मानदेय दिया जाए इनकी प्रमुख मांग है।अगर हमारी मांग पूरी नहीं होती है तो इसे और उग्र आन्दोलन किया जाएगा।

आर्थिक स्थिति का हाल बेहाल फिर भी सरकार से आस लिए बैठा स्थानीय अतिथि शिक्षक मनीष 

बता दे कि नारायणपुर जिले के हान्दावाड़ा से लगभग महीने भर से धरना प्रदर्शन में डंटे हुए श्री मनीष यादव बताते है कि उनके पिता जी गांव मे बीमारी से पीड़ित है घर में देखभाल करने वाले कोई नहीं है इलाज कराने आथिर्क परेशानी होती है फिर भी अपने आंसुओ को दबाकर हड़ताल मे सरकार से बड़ी उम्मीद लेकर बैठे है कि हमे भी राज्य अतिथि शिक्षक की भॉंति जॉब सूरक्षा एवं 12माह काम सम्मानजनक वेतन मिल जाती है तो जिंदगी मे एक दिन बेरोजगारी और आर्थिक परेशानी खत्म हो जायेगी। सरकार से एवं मुख्यमंत्री जी से मेरा निवेदन है कि हम स्थानीय अतिथि शिक्षक, शिक्षण सेवक बस्तर,ट्युटर शिक्षक कोंडागांव शिक्षा दूत सुकमा,बीजापुर की मांग को सहानुभूति पूर्वक विचार करते हुए पूरा करने की कृपा करेंगे।

बस्तर जिला के महिला शिक्षण सेवक अपने छोटे छोटे बच्चों को लेकर धरना स्थल में डंटी हु‌ई है बस्तर जिला की तोकापाल ब्लाक के महिला शिक्षण सेवक (स्थानीय अतिथि शिक्षक) श्रीमती जयंती सेठिया ने बताया कि उनके घर की आर्थिक स्थिति अत्यंत दयनीय है जब शिक्षण सेवक में मेरी पहली बार 2019 में नियुक्ति हुई तो एक नई उम्मीद जगी और मैं मेरे पति के साथ परिवार का भरण पोषण करने में सहयोग करने लगी सब ठीक ही चल रहा था किंतु अचानक शिक्षण सेवकों को सेवा से मुक्त करने का आदेश सुनकर मैं स्तब्ध रह ग‌ई पुनः बेरोजगार होकर वहीं आर्थिक एवं मानसिक परेशानी से जूझ रही हूं अब छोटे छोटे बच्चों को लेकर कहां जाएं कहां मजदूरी करें कैसे जीवन यापन करें इससे भी बड़ी बात ऐसे मेरे क‌ई साथी है जिनकी उम्र की सीमा पार हो चुकी है।मेरी सरकार से निवेदन है कि हमारी जायज मांग को सहानुभूति पूर्वक विचार करते हुए पूरी करने की कृपा करें।

कुछ अतिथि शिक्षक हो गए उम्रदराज = दंतेवाडा जिले से शोभा राम यादव एवं नारायणपुर जिले से रामभरोस कोर्राम बताते है कि उनके उम्र 50 वर्ष हो गए है, घर मे परिवार है जिसका जिम्मेदारी अपने कंधे मे है , लेकिन बेरोजगारी इतना है कि हम घर के आधारभूत आवश्यक्ताये पूरा नहीं कर पा रहे है और न ही बच्चों का पालन पोषण कर पा रहे, इस बात का बहुत दुःख है ,जिसके कारण हड़ताल करने पर विवश है। सरकार से अपनी मांग पूरी करने की गुहार लगा रहे हैं। बस्तर जिलाध्यक्ष ने कहा मांग पूरी नहीं होने पर होगा उग्र आंदोलन  

अपनी 9 सूत्रीय मांग को लेकर आज 31वाँ दिन भी हड़ताल जारी है सरकार बहरी हो चुकी है किसी प्रकार की कोई आश्वासन नहीं मिल  रहा है और न सरकार की तरफ से कोई प्रतिनिधि आस्वात करने आ रहे हैं इस स्थिति को देखते हुए स्थानीय अतिथि शिक्षकों का कहना है कि शांतिपूर्वक ढंग से अभी तक हड़ताल जारी है और इसे उग्र रूप देना होगा जिससे सरकार तक यह आवाज पहुंचे बस्तर जिले के अध्यक्ष ने साफ-साफ कह दिया है कि अब हमारी मांगे पूरी नहीं होती है तो सरकार को उग्र रूप दिखाना ही पड़ेगा इसके लिए चाहे कुछ करना पड़े हम पीछे नहीं हटेंगे।

Tags

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.