Type Here to Get Search Results !

चिटफंड कंपनी के.एम.जे.लैण्ड डेवलपर्स इंडिया लिमिटेड की चिन्हीत की गई लगभग 11 करोड की संप्पति की कुर्की के अंतिम आदेश जारी, निवेशकों को अब वापस मिल सकेगा उनका रकम

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के दिये गये निर्देशों के पालन में पुलिस महानिरीक्षक दुर्ग रेंज दुर्ग बी. एन. मीणा (भापुसे) के दिशा-निर्देशन पर पुलिस अधीक्षक बेमेतरा धर्मेन्द्र सिंह (भापुसे) एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पंकज पटेल, पुलिस अनुविभागीय अधिकारी बेमेतरा राजीव शर्मा के नेतृत्व में विशेष टीम गठित कर चिटफंड कंपनियों के विरूद्ध चलाये जा रहे अभियान के तहत आज दिनांक तक 08 डायरेक्टरो को गिरफ़्तार किया गया है तथा एक मर्सिडीज कार और दो बंगले चण्ड़ीगढ़ सहित 72 एकड जमीन को चिन्हीत किया गया ।

इसके अलावा पूर्व में हजारो लोगो से करोडो की ठगी करने वाले पीएसील कंपनी के फरार डायरेक्टर गुरजंत सिंह गिल को बेमेतरा पुलिस न केवल गिरफ़्तार करने में सफल रही बल्कि कंपनी के नाम से खरीदे गये आलीसान बंगले जिनकी कीमत 15 करोड रूपये से उपर है का भी चिन्हाकंन करने में सफल रही। वर्तमान में यह संम्पत्ति कुर्की कार्यवाही हेतु प्रक्रियाधीन है ।

बेमेतरा पुलिस शासन की मंशा अनुसार चिटफंड कंपनियों के अधिक से अधिक संपत्ति चिन्हांकन कर कुर्की कर निवेशकों को ठगी का पैसा वापस दिलवाने एवं आरोपियो को गिरफ़्तार करने हेतु प्रतिबद्ध है। इसी क्रम में विगत 6 माह में अलग-अलग थानों में दर्ज कुल 11 प्रकरण में अलग-अलग चिटफंड कंपनियों के 08 डायरेक्टरो को गिरफ़्तार करने में सफलता प्राप्त हुई है। जिसमें बीएनगोल्ड रियल स्टेट लिमिटेड कंपनी के डायरेक्टर 1. अनील शर्मा निवासी पूणे(महाराष्ट्र) 2. विनय कुमार यादव 3. विकास कुमार यादव दोनो निवासी भोजपुर बिहार 4. बलजीत सिंह संधु निवासी जालंधर पंजाब, पीएसीएल कंपनी के डायरेक्टर 1.अनुराग शर्मा निवासी चंडीगढ 2. जोगेन्दर टाईगर निवासी पटियाला पंजाब, साई प्रकाश डेवलपमेंट कंपनी के डायरेक्टर मृगेन्द्र सिंह बघेल निवासी सहडोल मध्यप्रदेश, रायल लाईफ मार्केटिंग के फरार डायरेक्टर धनेन्द्र गजभिये निवासी बालाघाट को गिरफ़्तार काने में सफलता प्राप्त हुई है।

ज्ञात हो की के.एम.जे.डेवलपर्स इंडिया के द्वारा बेमेतरा जिले के निवेशकों एवं प्रदेश के अन्य जिलों को निवेशको से करोडो रूपये का चुना लगाकर भाग गई थी जिसके डायरेक्टर संतोषी लाल राठौर एक लम्बे समय से फरार चल रहा है जिसके द्वारा सेबी की फर्जी एनओसी बनाकर बेमेतरा जिले मे 72 एकड जमीन जिसकी कीमत लगभग 11 करोड रूपये आंकी गई है को बेच दिया गया था इस संबंध में एक शिकायत बेमेतरा पुलिस अधीक्षक को प्राप्त हुई थी। जारी एनओसी की पुष्टि कराने हेतु सेबी को पत्र लिखा गया। सेबी ने कोई एनओसी जारी नही की गई ऐसा लेख किया गया। इस पर से पुलिस अधीक्षक द्वारा जिला दण्डाधिकारी बेमेतरा को प्रतिवेदन भेजकर उक्त भुमिका नामांतरण कैंसल कराने प्रतिवेदन भेजा गया
 जिस पर से जिला दण्डाधिकारी द्वारा नामंतरण कैंसल कर कुर्की हेतु प्रथम आदेश जारी किया गया तथा अंतिम आदेश हेतु प्रकरण माननीय विशेष न्यायाधीश बेमेतरा को भेजा गया। इस पर से माननीय विशेष न्यायाधीश बेमेतरा जयदीप विजय निमोणकर की आदालत द्वारा उक्त भुमिका की कुर्की के अंतिम आदेश जारी किये गये है। जिसकी नीलामी की कार्यवाही प्रक्रियाधीन है। जिससे बेमेतरा एवं छत्तीगढ़ के हजारो निवेशको की खून-पसीने की कमाई के पैसे वापस मिलने की आशा जगी है।

थाना सिटी कोतवाली बेमेतरा अपराध क्रमांक 182/22 धारा 420 भादवि 4,5,6 ईनामी चिटफंड धन परिचालन स्कीम पाबंदी अधिनियम की धारा 10

Tags

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.