Type Here to Get Search Results !

कांग्रेस-भाजपा के बीच अविश्वास प्रस्ताव का खेला महासमुंद के बाद सरायपाली में भी सिंहासन डोला

महासमुंद  स्थानीय नगर पालिका के भाजपा अध्यक्ष के खिलाफ कांग्रेस द्वारा अविश्वास प्रस्ताव लाये जाने के पश्चात अब सरायपाली नगर पालिका में भी भाजपा की ओर से कांग्रेस अध्यक्ष के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया गया है, हालांकि सरायपाली के अविश्वास प्रस्ताव को लेकर अभी सम्मिलन की तिथि तय नहीं हुई है। और जैसा कि, महासमंुद पालिका के अध्यक्ष ने कहा था उनके पास जादुई आकंडा है और वे समय पे अपना कमाल दिखायेंगे। उसी तर्ज पर सरायपाली के पालिका अध्यक्ष ने भी दावा किया है कि, उनके खिलाफ लाया गया अविश्वास प्रस्ताव ध्वस्त होना तय है। भाजपा के अनेक पार्षद अभी से कांग्रेस में आने को तैयार है। कांग्रेस के अल्पमत होने पर भी अगर वे अध्यक्ष बने है तो इसके पीछे भाजपा वाले भाईयों का ही योगदान था और आगे भी बना रहे। इसलिये उन्हें अविश्वास प्रस्ताव को लेकर कोई चिंता नही है। 

ज्ञातव्य है कि, सरायपाली नगर पालिका में दलगत स्थिति की बात करे तो 15 पार्षदों वालें परिषद में भाजपा पार्षदों की संख्या 9 है जबकि कांग्रेस के 3 पार्षद व तीन अन्य पार्षद निर्दलीय है। बताया जाता है कि, पिछले दिनों सराईपाली प्रवास पर आए पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह द्वारा होटल सिमरन में भाजपा पार्षदों की बैठक लेते हुए उन्हें लताड़ लगाई गई थी कि, बहुमत के बाद भी भाजपा को विपक्ष में बैठना आखिर कैसे संभव हुआ ? कांग्रेस का कब्जा है। समझा जा रहा है, इसी दौरान अविश्वास प्रस्ताव की रणनीति तैयार की गई थी। जिसके तहत अविश्वास प्रस्ताव प्रस्तुत किया गया है।

Tags

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.